Home Breaking बंसीलाल ने नहीं निभाई थी जिम्मेदारी, इसलिए नहीं मिला एसवाईएल का पानी- अभय चौटाला

बंसीलाल ने नहीं निभाई थी जिम्मेदारी, इसलिए नहीं मिला एसवाईएल का पानी- अभय चौटाला

0

Umang Sheoran, Yuva Haryana
Panchkula, 11 April 2018

पंचकूला में पहुंचे नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला ने एसवाईएल को लेकर पूर्व की बंसीलाल सरकार को निशाने पर लिया है। उन्होने कहा कि अगर उस वक्त बंसीलाल एसवाईएल को लेकर कोई फैसला लेते तो अब किसानों को परेशान नहीं होना पड़ता।

नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला आज पंचकूला में डिस्ट्रिक्ट बार में एक कार्यक्रम में पहुंचे थे. इस दौरान उन्होने कई मुद्दों को लेकर वकीलों के साथ बातचीत की ।

चौटाला ने कहा कि भाजपा सरकार टालमटोल की नीति के चलते हरियाणा के किसान एसवाईएल के पानी को लेकर मोहताज है। बंटवारे के वक्त पंजाब ने हरियाणा के साथ कई मामलों में भेदभाव किया बात चाहे सीमा की हो या फिर पानी के बंटवारे की हरियाणा की पांच नदियों का पानी है लेकिन एसवाईएल के पानी की बात करें तो हरियाणा को आज तक पानी नहीं मिला।

अभय चौटाला ने कहा कांग्रेस ने अपनी जिम्मेदारी सही ढंग से नहीं निभाई बल्कि उल्टा लोगों में यह भ्रम फैलाया कि बादल और देवीलाल के रिश्तों के चलते हरियाणा को पानी नहीं मिला । 1966 से 1977 के बीच कांग्रेस की सरकार थी और हरियाणा के मुख्यमंत्री चौधरी बंसीलाल थे। लेकिन उन्होंने एसवाईएल को लेकर अपनी जिम्मेदारी नहीं निभाई जिसका आज हरियाणा के किसानों को नुकसान भुगतना पड़ रहा है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस भाजपा ने एसवाईएल के पानी को लेकर अपने मेनिफेस्टो में कई बार चुनावी वायदे कर चुकी है। यह वायदे दक्षिण हरियाणा से वोट का लाभ लेने के लिए थे लेकिन वायदे आज तक पूरे नहीं हुए । बल्कि उल्टा नहर में रुकावटें पैदा की गई 1987 में देवीलाल मुख्यमंत्री हुए होते यह मुद्दा फिर उठाया कोर्ट का फैसला हरियाणा के हक में आया फैसला लागू नहीं हुआ ।

यह खबर भी देखें >>
HSSC को भंग कर, चेयरमैन भारती के खिलाफ हो FIR,मुख्यमंत्री के खिलाफ प्रिविलेज मोशन लाया जाए-अभय चौटाला

Load More Related Articles
Load More By Yuva Haryana
Load More In Breaking

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

सरकारी स्कूलों में कार्यरत 1983 पीटीआई को राहत, फिलहाल बने रहेंगे पद पर

Yuva Haryana, Chandigarh स्कूल शिक्षा विभाग 1983 पीटीआई हटाने के आदेशों पर मौखिक रूप से रो…