आस्था पर ठेस- गंगा स्नान करना हुआ खतरनाक

देश बड़ी ख़बरें सेहत

Yuva Haryana,

New Delhi, (30-3-2018)

हिन्दू धर्मं की सबसे पवित्र नदी गंगा, जिससे देश के करोड़ों लोगों की आस्था जुड़ी है।

लेकिन, अब गंगा नदी की पवित्रा खत्म होती जा रही है। इसका कारण है गंगा नदी में सीवेज के जरिए डाला जाने वाला मल-मूत्र। जिससे लोगों की सेहत को काफी नुकसान पहुंचा रहा है।

सेंट्रल पॉल्यूशन बोर्ड के आंकड़े के अनुसार संगम में फीकल कोलिफोर्म बैक्टीरिया भयावह स्तर पर पहुंच गया है, जो नदी में मल की वजह से बनता है।

संगम में मल बैक्टीरिया यानी फीकल कोलीफोर्म एफसी की तय सीमा 5-13 गुना अधिक है और 50 फीसदी पानी अशुद्ध हो चुका है।

जिस के कारण संगम में डुबकी लगाना हानिकारक हो सकता है।

बता दें कि एफसी बैक्टीरिया सीवर से आता है। इसकी निर्धारित सीमा प्रति 100 मिली लीटर एफसी 500 है, जो बढ़कर 2500 तक पहुंच चुकी है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *