भिवानी बोर्ड घोटाला: 800-1000 के सीसीटीवी 6 हजार में लिए किराये पर

Breaking बड़ी ख़बरें हरियाणा

हरियाणा विद्दालय शिक्षा बोर्ड ने जो सीसीटीवी कैमरे 800 से 1000 रुपये में मार्केट में मिल जाते है वहीं कैमरे अपने परीक्षा सेंटरों में 6 हजार रुपये में किराये पर लगाए। इन परीक्षाओं की चैकिंग के नाम पर भी बहुत बड़ा घोटाला हुआ है। यह घोटाला हुआ है प्रदेश में हुई एचटेट 1,2 और 3 लेवल का परीक्षाओं के दौरान।

इस मुद्दें को विधानसभा में जुलाना से इनेलो विधायक परमिंद्र सिंह ढुल ने उठाया। पूर्व शिक्षा मंत्री गीता भुक्कल ने भी ढुल के आरोपों का समर्थन किया। विपक्ष के दबाव के आगे सरकार को इस मामले की विजिलेंस जांच के आदेश देने पड़े। शिक्षा मंत्री प्रो. रामबिलास शर्मा ने खुद इस घोटाले से जुड़े दस्तावेज ढुल से लेते हुए विजिलेंस जांच करवाने की बात कही।

यही नहीं बोर्ड ने जिस कंपनी से सीसीटीवी कैमरे किराए पर लिए थे, उसके साथ यह समझौता था कि पेमेंट तभी होगी जब कैमरे की पूरी रिकार्डिंग का रिकार्ड पेनड्राइव में बोर्ड को दिया जाएगा। जबकि बोर्ड ने बिना रिकार्डिंग हासिंल किए पेमेंट भी कर दी।

ढुल ने बताया कि प्रदेशभर में एचटेट परीक्षा के लिए कुल 543 सेंटर बनाए गए थे। इस हिसाब से करोड़ो का घोटाला किया गया है। कैमरे तो परीक्षा केंद्रो में एक ही बार इंस्टॉल हुए लेकिन इंस्टॉलेशन चार्ज तीनों बार का अलग-अलग दिया गया।

इसी तरह से बोर्ड ने उतर पुस्तिकाओं की चैकिंग में भी बड़ा घपला किया है। पहले उतर पुस्तिकाओं को एनआईसी से 65.43 पैसे प्रति कॉपि के हिसाब से चैक करवाया जाता था, लेकिन अब एक प्राइवेट एजेंसी को 12 रुपये 61 पैसे प्रति कॉपी के हिसाब से चैकिंग का ठेका दे दिया गया।

बोर्ड के चेयरमैन पर भी भ्रष्टाचार करने के आरोप लगाए गए है। उन्होंने कहा कि बोर्ड के चेयरमैन ने कैम्प कार्यालय के नाम पर हिसार में ही किराये पर एक मकान लिया। कार्यालय पर परदों के लिए ही कई हजार खर्च कर दिए गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *