भिवानी के गोविंदपुरा में दो बच्चों की निर्मम पिटाई, मोबाइल चोरी का लग रहा है आरोप

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा

Indervesh Duhan, Yuva Haryana

Bhiwani, 25 May, 2018

भिवानी के गांव गोविंदपुरा में दो नाबालिग बच्चों की बेरहमी से पिटाई का सनसनीखेज मामला सामने आया है। डंडों से पीटे गए बच्चों को फिलहाल अस्पताल में भर्ती करवाया गया है और पुलिस मामले की जांच कर रही है। पीडि़त बच्चों व परिजनों का आरोप है कि गांव के ही तीन युवकों ने तस्करी के लिए गाय ना पकड़वाने पर बेरहमी से पिटाई की गई है। हालांकि मामला मोबाईल चोरी का भी बताया जाता है।

चौधरी बंसीलाल नागरिक अस्पताल में उपचार के लिए आए गांव गोविंदपुरा के दो नाबालिग बच्चों की पीठ पर चोट के गंभीर निशान बताते हैं कि किसी ने इनकी बड़ी ही बेरहमी से पिटाई की है। पीठ पर उभरे चोट के निशान अपने आप में गवाह हैं कि इनकी पिटाई इन्हे बच्चे समझकर नहीं, बल्कि जानवरों की तरह पीटा गया है। फिलहाल पूरे मामले की जानकारी देकर पर्चा दर्ज करवाया गया है और पीडि़त बच्चों का उपचार करवाया जा रहा है।

पीड़ित 15 वर्षिय पंकज व 13 वर्षिय दीपक का आरोप है कि गांव के ही कुछ युवक उन्हे खेतों से पानी लाने के नाम पर अपने ट्रैक्टर में बैठाकर ले गए। दोनों बच्चों का आरोप है कि खेतों में पानी की बजाए उनसे गाय पकडऩे के लिए कहा और मना करने पर दोनों को कस्सी के बिंडे (डंडों) से बुरी तरह पीटना शुरू कर दिया।

वही पंकज के दादा साधूराम व दादी कृष्णा देवी ने बताया कि दोपहर के समय जब पंकज चाय के समय घर नहीं था तो वो उसे ढूंढ रहे थे। तभी पता चला कि पंकज व पड़ौस के एक दीपक नामक बच्चे को एक घर में बंद किया हुआ है। उन्होंने बताया कि जब दोनों को अपने घर लाकर पूछा गया तो उन्होंने बताया कि गाय ना पकडऩे पर उन्हे पीटा गया है और फिर घर पर लाकर बंद कर दिया।

गांव के सरपंच प्रतिनिधि बीर सिंह ने भी पूरे मामले को गलत बताया और कहा कि इस कदर पिटाई तो कोई दुष्ट इंसान भी नहीं करता। साथ ही उन्होंने चेताया कि पुलिस मामले में लीपापोती करती है तो वो इस मामले को उपर तक लेकर जाएंगे और बच्चों को न्याय दिलाएंगें।

सदर थाना पुलिस ने पीडि़त पंकज के बयान पर गांव के ही तीन युवकों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस का कहना है कि शिकायत में पंकज ने मोबाइल चोरी के नाम पर पीटने की बात कही है। एसआई धर्मबीर ने बताया कि आरोपियों की तलाश जारी है और आरोपियों की गिरफ्तारी पर ही पूरे मामले की सच्चाई का पता चलेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *