पूर्ण मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने की बड़ी घोषणा- दिसंबर में होगी प्रदेश स्तरीय संपूर्ण जनक्रांति रैली

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति शख्सियत हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

Pehowa, 10 Sep, 2018

हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा की जनक्रांति रथ यात्रा मां सरस्वती की गोद में बसे नगर पेहोवा पहुंची, जहां पुरानी अनाज मंडी में हजारों की भीड़ ने उनका भव्य स्वागत किया।  इससे पहले उन्होंने पेहोवा के पृथूदक तीर्थ के आदि देव पृथ्वेश्वर महादेव मंदिर में पूजा अर्चना भी की ।

इस अवसर पर पूर्व मुख्यमंत्री ने एक महत्वपूर्ण घोषणा की कि वे आगामी दिसम्बर महीने में सम्पूर्ण क्रांति रैली का आयोजन करेंगे, जिसमें समूचे हरियाणा से लाखों लोग इकट्ठे होंगे।  उन्होंने कहा कि यह रैली न केवल हरियाणा की भविष्य की राजनीति को एक नई दिशा प्रदान करेगी, बल्कि प्रस्तावित रैली में हरियाणा की वर्तमान सरकार का सारा कच्चा चिठ्ठा भी खोल कर रखा जाएगा। इस जनविरोधी सरकार को उखाड़ फेंकने के लिए आर- पार की लड़ाई का ऐलान किया जाएगा।

जनसमूह को संबोधित करते हुए उन्होंने अपनी दिसम्बर तक की रणनीति का खुलासा करते हुए बताया कि तब तक जनक्रांति रथ यात्रा यथावत चलती रहेगी, तब तक वे प्रदेश के हर भाग में गांवों व शहरों में जनसभाओं के माध्यम से जनता के बीच रहेंगे।

हरियाणा विधान सभा के सत्र के कारण यात्रा की तारीखों में कुछ बदलाव किया गया है I कुरुक्षेत्र जिले के बाकी शेष बचे शाहबाद हलके में 17 सितम्बर को, 18 सितम्बर को थानेसर में और 19 सितम्बर को लाडवा हलके में जनक्रांति रथ यात्रा का आगाज़ होगा ।

हुड्डा ने कहा कि उनकी जनक्रांति रैलियों में उमड़ रहे उत्साही जन समूह को देख कर सरकार की नींद उड़ गई है और वह बौखलाहट में जनता की आवाज को दबाने के लिए उन पर झूठे मुकदमें बना रही है। सरकार को गलतफहमी है कि ऐसी गीदड़ भभकियों से हुड्डा चुप बैठ जाएगा। उन्होंने चेतावनी भरे शब्दों में कहा कि जब तक उनकी रगों में खून दौड़ता रहेगा तब तक वे चुप बैठने वाले नहीं है, बल्कि और अधिक शक्ति के साथ हरियाणा की जनता की आवाज को बुलंद करेंगे।

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि अच्छे दिन आने का झूठा वादा कर के भाजपा ने जनता के वोट तो बटोर लिए, लेकिन अच्छे दिन की बजाय इतने बुरे दिन ला दिए कि जनता को एक- एक दिन काटना दूभर हो रहा है। लोग कांग्रेस शासन को याद करके बेसब्री से चुनाव का इन्तजार कर रहे हैं। अगले चुनाव में जनता भाजपा पर ऐसी राजनैतिक चोट मारेगी कि यह पार्टी भविष्य में कभी झूठे वादे करके वोट मांगने का साहस नहीं कर पाएगी।

हुड्डा ने उपस्थित जनसमूह से सीधा संवाद करते हुए कहा कि अगर अगामी चुनाव के बाद इनकी सरकार बनी, तो बुढ़ापा पेंशन 3 हजार रुपए महीना, बिजली के रेट आधे, पिछली बार की तर्ज पर किसानों व गरीबों के कर्जे माफ, स्वामीनाथन आयोग को पूरी तरह लागू करना, किसान की फसल के एक- एक दाने को न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीदना और मिलों पर गन्ने के बकाया का पूरा भुगतान वसरकारी नौकरियों के लिए आवेदन पत्र पर शुल्क खत्म करने जैसे अपने वायदों को दोहराया।

उन्होंने प्रदेश के सरकारी कर्मचारियों को पंजाब के समान वेतन देने के वादे को आगे बढ़ाते हुए कहा कि पंजाब से बेहतर वेतनमान देंगे, जिससे पंजाब व अन्य राज्यों के कर्मचारी हरियाणा स्केल की मांग करेंगे। पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस की कीमतों में बेतहाशा बढ़ोतरी ने आम आदमी का जीना दूभर कर दिया है।

सरकार ने पेट्रोलियम पदार्थों पर भारी भरकम टैक्स लगा दिए हैं हुड्डा ने याद दिलाया कि उनकी सरकार के दौरान डीजल देश भर में सबसे सस्ता हरियाणा में मिलता था। जनता ने अगर फिर से मौका दिया तो पेट्रोल और डीजल पर वैट घटाकर पहले की तरह देश भर में सबसे सस्ता कर दिया जाएगा।

साथ ही इन वर्गों के प्रतिभावान बच्चों को आईएएस, आईपीएस व एचसीएस परिक्षाओं की कोचिंग के लिए प्रदेश स्तर पर एक प्रतिभा केन्द्र की स्थापना की जाएगी। इन केन्द्रों में कोचिंग लेने वाले बच्चों से किसी प्रकार का कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा।

पूर्व मुख्यमंत्री ने 2004 में केन्द्र की तत्कालीन भाजपा सरकार द्वारा सरकारी कर्मचारियों की पैंशन स्कीम को बन्द करने के फैंसले को अव्यवहारिक बताते हुए कहा कि सरकार बनने पर वे पुरानी पैंशन स्कीम को पुनः लागु करेंगे।

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *