हरियाणा पुलिस के जवानों को मनोहर सौगात, नए साल का दिया तोहफा

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

FARIDABAD

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने राज्य के पुलिस कर्मियों को कई सौगातें दी। इसी कड़ी में मुक्चयमंत्री ने नए साल का तोहफा देते हुए उनके कल्याण के लिए सरकार द्वारा दी जा रही मैचिंग ग्रांट की राशि 4 करोड़ रुपये से बढाकर 6 करोड रुपये प्रतिवर्ष करने सहित कई अन्य घोषणाएं भी की। 
          फरीदाबाद में मेगा पुलिस हाउसिंग कॉम्प्लेक्स के उद्घाटन के बाद सभा को संबोधित करते हुए, मुख्यमंत्री ने कहा कि एएसआई, एसआई और इंस्पेक्टरों सहित एनजीओज़ को 4000 रुपये वर्दी भत्ता दिया जाएगा। कांस्टेबल और हेड कांस्टेबल को 3000 रुपये वर्दी भत्ते के रुप में प्रदान किये जाएगे। उन्होंने सभी पुलिस अधिकारियों को मोबाइल सुविधा प्रदान करने के लिए पुलिस विभाग में कॉलर्स यूजर ग्रुप (सीयूजी) बनाने की घोषणा करते हुए कहा कि यह सीयूजी नंबर सभी को दिया जाएगा और बिल का भुगतान पुलिस विभाग करेगा। इसके अतिरिक्त, सेवानिवृत्ति के छह महीने पहले एग्जम्पटी सब-इंस्पेक्टर (ईएसआई) को आनरेरी इंस्पेक्टर बनाया जाएगा।
  उन्होंने पुलिसकर्मियों की दी जाने वाली राशन मनी 600 रुपये से बढाकर 1000 रुपये प्रति माह करने की घोषणा की।  उन्होने कहा कि पुलिस कार्यालयों में  महिला पुलिसकर्मियों के शिशुओं व छोटे बच्चों की देखभाल के लिए क्रेच की व्यवस्था की जाएगी और महिला पुलिसकर्मियों के लिए कार्यालयों में, जहां जरुरत होगी चेंजिंग रूम की सुविधा भी उपलब्ध करवाई जाएगी। इसके अलावा, साल के मध्य में स्थानांतरण के मामले में, पुलिस कर्मी 31 मार्च तक अपने पूर्ववर्ती जिले या नए स्थान का मकान किराया भत्ता क्लेम सकता है। 
          उन्होंने पुलिसकर्मियों के लिए अतिरिक्त आवास के निर्माण के लिए हुडको के माध्यम से पुलिस हाउसिंग कॉर्पोरेशन को 1050 करोड़ रुपये का अतिरिक्त फंड प्रदान करने की भी घोषणा की। उन्होने कहा कि इससे पुलिस आवास की संतुष्टि का स्तर और बढ़ेगा। इससे पहले, निगम को 550 करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान की गई थी जिसके द्वारा विभिन्न जिलों में 3060 घरों का निर्माण विभिन्न स्तर पर जारी है।
   मनोहर लाल ने कहा कि पुलिस विभाग में बुनियादी ढांचे को मजबूत करने के साथ-साथ पुलिसकर्मियों के मनोबल को बढ़ाने के लिए कई कदम उठाए गए हैं।
         इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने लगभग 65 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित 384 घरों को पुलिस कर्मियों को समर्पित किया। उन्होंने पुलिसकर्मियों को अपनी कार्यशैली और व्यवहार में और सुधार लाने का आग्रह किया ताकि हरियाणा पुलिस को देश का सर्वश्रेष्ठ पुलिस बल बनाया जा सके । उन्होंने कहा कि अगले साल पुलिस विभाग में लगभग 7000 और पदों पर भर्ती की जाएगी।
  इस अवसर पर बोलते हुए, अतिरिक्त मुख्य सचिव, गृह,  एस.एस. प्रसाद ने मुख्यमंत्री को एक ही दिन में इस तरह के मेगा पुलिस आवास परिसर को पुलिसकर्मियों को समर्पित करने के लिए धन्यवाद दिया। उन्होंने स्मार्ट पुलिसिंग पर भी बल दिया।
  इससे पहले, पुलिस महानिदेशक (डीजीपी), बी.एस. संधू ने मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए कहा कि इन 384 घरों का निर्माण हरियाणा पुलिस हाउसिंग कॉर्पोरेशन के माध्यम से लगभग 65 करोड़ रुपये की लागत से किया गया है। श्री संधू ने राज्य पुलिस बल में पारदर्शी भर्ती प्रक्रिया सुनिश्चित करने के लिए मुख्यमंत्री को धन्यवाद किया। उन्होंने कहा कि इस साल हुई 4225 सिपाहियों की भर्ती में लगभग 2600 पुलिसकर्मी या तो स्नातकोत्तर या स्नातक हैं।
  डीजीपी ने पुलिस अधिकारियों व कर्मचारियों से वर्ष 2019 में जनता के साथ बेहतर व्यवहार करने का भी आग्रह किया। उन्होंने पुलिस कर्मियों के हित में कल्याणकारी निर्णय लेने के लिए मुख्यमंत्री का धन्यवाद भी किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *