दिल्ली के गंगाराम हॉस्पिटल की बड़ी लापरवाही, पानीपत के जीवित कृष्ण मित्तल को मृत घोषित किया

Breaking अनहोनी बड़ी ख़बरें हरियाणा

Gourav Sagwal, Yuva Haryana

Panipat

दिल्ली के एक हॉस्पिटल में लापरवाही का एक मामला सामने आया है। डॉक्टरों ने हॉस्पिटल में दाखिल जिंदा मरीज को मरा हुआ घोषित करके डिस्चार्ज कर दिया। जबकि अंतिम संस्कार के लिए ले जाते वक्त वह जीवित पाए गए।

बता दें कि 60 साल के ये मरीज हरियाणा के पानीपत के रहने वाले हैं। जिन्हें इलाज के लिए दिल्ली के गंगाराम में भर्ती कराया गया था। रिश्तेदारों ने बताया कि मृत घोषित करने के बाद जब वे अंतिम संस्कार के लिए उन्हें ऐम्बुलेंस से घर ले जाने लगे, तभी उनके शरीर से पसीना निकलता दिखा। जिसके बाद मरीज को नजदीकी अस्पताल लेकर जाया गया तो डॉक्टर ने उन्हें जिंदा बताया और भर्ती कर लिया।

पानीपत के रहने वाले कृष्ण मित्तल को पिछले दिनों पेट में संक्रमण हो गया था। जिसका इलाज 19 जून से दिल्ली के गंगाराम अस्पताल में चल रहा था। 21 जून की रात 12 बजे डॉक्टरों ने मित्तल को मृत घोषित कर दिया। परिजनों ने घर पर मौजूद लोगों को अंतिम संस्कार की तैयारी करने के लिए कह दिया। शाम 5:30 बजे शिवपुरी में उनके अंतिम संस्कार का समय तय कर दिया गया।

हालांकि, बाद में सामने आए डिस्चार्ज रिपोर्ट में लिखा गया है मरीज की हालत नाजुक है और उन्हें आगे इलाज की जरूरत है। मरीज के अटेंडेंट उन्हें डिस्चार्ज कराना चाहते हैं, इसलिए उन्हें लीव अगेंस्ट मेडिकल एडवाइस के आधार पर डिस्चार्ज किया जा रहा है।

ऐसे मामले दिल्ली के बड़े हॉस्पिटल में पहले नहीं है। इससे पहले भी बड़े नामचीन हॉस्पिटल ऐसी लापरवाही कर चुके है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *