कांग्रेस के पूर्व मंत्री ने Baba Ramdev के खिलाफ करवाया था केस दर्ज, अब केस लिया वापस

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana, Rohtak

रोहतक में जाट आरक्षण आंदोलन के बाद आयोजित सद्भावना दिवस में बाबा रामदेव के भड़काऊ भाषण के मामले में अब नया मोड़ आ गया है। इस मामले में कांग्रेस के पूर्व मंत्री सुभाष बत्रा ने केस वापस ले लिया है। यह मामला साल 2017 का है जब जाट आरक्षण आंदोलन के बाद रोहतक में सद्भावना सम्मेलन आयोजित करवाया जा रहा था।

जानकारी के मुताबिक सद्भावना सम्मेलन में बाबा रामदेव ने मंच से कहा था कि यदि उनके हाथ कानून से बंधे नहीं होते तो भारत माता की जय नहीं बोलने वाले लोगों के सिर कलम कर देते। इसी बयान को लेकर बत्रा ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। हालांकि अब बत्रा ने यह केस वापस ले लिया है।

पूर्व मंत्री सुभाष बत्रा ने केस वापस लेते हुए कहा कि हमारी इस विषय पर जो गलतफहमी थी वो अब दूर हो गई है। इस मामले में बाबा रामदेव ने स्पष्ट कर दिया है। उन्होंने बताया कि हरिद्वार में काफी लोगों की मीटिंग के बीच बाबा रामदेव ने माना है कि यह स्लीप ऑफ टंग थी। इसके चलते ही उन्होंने यह केस वापस लिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *