दुर्लभ पक्षी की चोंच में फंस गया था प्लास्टिक का छल्ला, 150 घंटे का ऑपरेशन चलाकर बचाया फोरेस्ट विभाग के कर्मियों ने

Breaking चर्चा में देश बड़ी ख़बरें हरियाणा

हरियाणा के वन विभाग के कर्मचारियों ने एक ऐसे पक्षी का जीवन बचाया है जिसकी चोंच में प्लास्टिक का एक छल्ला फंस गया था और वो पिछली कई दिन कुछ खा नहीं पा रहा था। पानी में तैरता हुआ या किनारे पड़ा प्लास्टिक का यह छल्ला जाने कैसे पक्षी की नोंक में फंस गया था और यह लाचार पक्षी उसे निकाल भी नहीं पा रहा था।

दुर्लभ प्रजाति के ब्लैक नेक्ड स्टार्क नामक पक्षी को वन्य प्राणी मंडल गुरुग्राम ने बचाकर सुल्तानपुर राष्ट्रीय उद्यान में छोड़ दिया गया है। इस पक्षी की चोंच 7 जून को प्लास्टिक के छल्ले जैसी वस्तु से बंद हो गई थी जिसके बाद मंडलीय वन प्राणी अधिकारी गुरुग्राम के कार्यालय की टीम ने मौके पर पहुंचकर उसे प्रथम उपचार दिया। 
इस घायल पक्षी के स्वस्थ होने पर इसे सुल्तानपुर राष्ट्रीय उद्यान में अपने हाथों से छोड़ते हुए लोक निर्माण तथा वन मंत्री राव नरबीर सिंह ने कहा कि इस प्रजाति के पक्षी विलुप्त होते जा रहे हैं जिन्हें बचाने की जरूरत है।
किसी पक्षी प्रेमी द्वारा बसई वेटलैंड में इस पक्षी की घायल अवस्था में फोटो फेसबुक पर अपलोड की थी और वन्य प्राणी विभाग की टीम ने इस पक्षी की जान बचाकर सराहनीय कार्य किया है।
वन विभाग की टीम ने गांव बसई मे जाकर संकटग्रस्त पक्षी की पहचान की और उसके बचाव में प्रयास शुरू किए। टीम ने देखा कि इस पक्षी की चोंच किसी प्लास्टिक की छल्ले जैसे वस्तु से बंद हो गई थी जिससे वह खाने पीने में असहाय नजर आ रहा था। यह पक्षी उस समय केवल धीरे-धीरे पानी पी सकता था।
उसके बाद टीम ने अपने विभाग के उच्च अधिकारियों को सूचित किया जिन्होंने बांम्बे नेचुरल हिस्ट्री सोसाइटी व गिद्ध प्रजनन केंद्र पिंजौर तथा ड्रोन तकनीकी विशेषज्ञों से संपर्क किया और ड्रोन तथा बांस के जाल आदि की सहायता से इस पक्षी को पकड़ा गया। इस पूरी प्रक्रिया में लगभग 150 घंटे लगे। 
इसके बाद उसकी चोंच से काली रबड़ का छल्ला हटा दिया गया और सुल्तानपुर राष्ट्रीय उद्यान मे लाकर प्रथम उपचार दिया गया और इसे वहीं वन विभाग की टीम की देख रेख में रखा गया।
यह पक्षी अब पूरी तरह से सामान्य है और उसे भोजन में मछली भी दी गई जिसे उसने आसानी से निगल लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *