पंजाब और हरियाणा दोनों ही चंडीगढ़ में किराएदार हैं- चौ. बीरेंद्र सिंह

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष
Deepak Khokhar, Yuva Haryana
Rohtak, 21 July, 2018
केंद्रीय मंत्री ने चंडीगढ़ पर पंजाब के कानूनी व वास्तविक दावे को गलत बताया है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में स्थिति यह है कि हरियाणा और पंजाब दोनों ही चंडीगढ़ में किराएदार हैं। उन्होंने कहा कि पंजाब के सीएम कैप्टन अमरेंद्र सिंह ने तो पहले भी संवैधानिक मान्यताओं को ताक पर रखकर विधानसभा में प्रस्ताव पास कर सभी करार रद्द कर दिए थे।
 
पंजाब के मुख्यमंत्री द्वारा चंड़ीगढ़ के अधिकार को लेकर केंद्रीय गृह मंत्री को लिखे गये पत्र के बारे में चौ. बीरेंद्र सिंह ने कहा कि शाह कमीशन ने चंडीगढ़ को हरियाणा को दे दिया था, लेकिन बाद में विकास के चलते स्थिति यह थी कि चंडीगढ़ न तो पंजाब का है और न ही हरियाणा का। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि जब हरियाणा का गठन हुआ तो सबसे पहले चंडीगढ़ हरियाणा की राजधानी बना था।
केंद्रीय मंत्री शनिवार को गढ़ी सांपला में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। एक सवाल के जवाब में केंद्रीय इस्पात मंत्री ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को अपरिपक्व नेता करार दिया। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी वर्ष 2004 से लगातार 3 बार सांसद हैं। लेकिन उनके व्यवहार में उतावलापन झलकता है।
केंद्रीय इस्पात मंत्री बीरेंद्र सिंह ने समय से पूर्व विधानसभा चुनाव की संभावनाओं से साफ तौर पर इंकार किया है। उन्होंने कहा कि चुनाव समय पर ही होंगे। उन्होंने मोरनी गैंग रेप मामले पर भी प्रतिक्रिया दी। उन्होंने ड्रग्स की आदत को जघन्य अपराध की वजह बताया है। लोगों की मानसिकता में बदलाव लाना जरूरी है। 
 
अशोक तंवर व भूपेंद्र सिंह हुड्डा की यात्राओं के बारे में कहा कि यह तो समय ही बताएगा कि किसकी सरकार बनेगी, यह फैसला जनता को करना है। वहीं यह भी कहा कि कांग्रेस वर्किंग कमेटी के गठन से अंदाजा लगाया जा सकता है कि किसकी क्या स्थिति है। 
 
 दीनबंधु सर छोटूराम की सांपला स्मारक में लगी प्रतिमा के अनावरण के बारे में उन्होंने कहा कि 15 अगस्त तक केएमपी का काम पूरा हो जायेगा और जब प्रधानमंत्री इस परियोजना का उद्घाटन करेंगे तो उसी दिन प्रतिमा का अनावरण भी करवाया जायेगा। उन्होंने कहा कि स्मारक में पार्क आदि बनाने का कार्य सरकार द्वारा किया जा रहा है। इससे पहले स्मारक पर छोटूराम विचारमंच की बैठक आयोजित कर प्रतिमा के अनावरण कार्यक्रम पर विचार-विमर्श किया गया।
 
 
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *