केंद्रीय मंत्री बीरेंद्र सिंह का बयान, एक कलम से होना चाहिए किसान का कर्जा माफ

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष
Pardeep Dhankar, Yuva Haryana
Bahadurgarh, 30 Dec, 2018
कांग्रेस द्वारा किसानों की कर्ज माफी के एलान पर कटाक्ष करते हुए वीरेंदर सिंह ने कहा कि किसानों का कर्ज एक कलम से पूरा माफ होना चाहिए।न कि ये शर्त लगाई जाए कि 2 लाख का कर्ज माफ करेंगे या फिर सिर्फ फसली कर्ज माफ करेंगे।उन्होंने कहा कि ये सब गलत है ।उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 2022 तक किसानों की आमदनी दोगुनी करने की दिशा में काम कर रहे है। वीरेंदर सिंह बहादुरगढ की ब्रह्म समाज सेवा समिति के कार्यक्रम के दौरान ये बात कही। वीरेंदर सिंह ने पहले नेताओं को नसीहत दी कि उन्हें वो वादे नहीं करने चाहिए जो पूरे नहीं कर सकते।
उन्होंने कहा देश की विकास और अर्थव्यवस्था के विकास का रास्ता गांव से होकर गुजरता है और जिस दिन गांव और किसान का विकास हो गया उस दिन देश का सकल घरेलू उत्पाद भी दोगुना हो जाएगा। वीरेंदर सिंह ने मंच से विधायको को भी मंत्रियों की तर्ज पर विकास निधि देने की पैरवी की।
उन्होंने कहा कि पैटी ग्रांट्स के कुछ नही होता।विधायक से भी लोगों की अपेक्षा होती है इसलिए लोकतंत्र की मजबूती के लिए जरूरी है कि विधायकों को भी विकास निधि देनी चहिए। वीरेंदर सिंह ने अपने भाषण के दौरान नेताओं ने बड़बोलापन और वोट के लिए झूठी घोषणाएं नही करने को भी कहा।
भाजपा नेता और केंद्रीय इस्पात मंत्री चौधरी वीरेंदर सिंह ने बहादुरगढ में एक सवाल के जवाब में ये बात कही है।वीरेंदर सिंह से एक्सिडेंटल प्राइम मिनिस्टर पर पूछे गए एक सवाल को टालते हुए ये बात कही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *