हरियाणा में बीजेपी और शिरोमणि अकाली दल की बढ़ सकती है नजदीकियां

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Sahab Ram, Yuva Haryana
Chandigarh, 11 July, 2018

पंजाब के मलोट में आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किसानों के लिए रैली कर जहां लोकसभा चुनाव का बिगुल फूंक दिया है वहीं हरियाणा और पंजाब में शिरोमणि अकाली दल और बीजेपी को एक बार फिर नजदीक ला दिया है।

अब इस रैली के बाद हरियाणा के विधानसभा और लोकसभा चुनाव में भी असर देखने को मिल सकता है क्योंकि बीजेपी अब हरियाणा में अकाली दल के साथ नई पारी खेल सकती है। हरियाणा में इससे पहले शिरोमणि अकाली दल का गठबंधन इनेलो के साथ होता रहा है, लेकिन इस बार शिरोमणि अकाली दल ने अकेले चुनाव लड़ने का फैसला किया है।

ऐसे में अब बीजेपी और शिरोमणि अकाली दल की हरियाणा में नजदीकियां बढ़ सकती है। हरियाणा में अब इनेलो ने बसपा के साथ गठबंधन किया हुआ है। वहीं शिरोमणि अकाली दल ने प्रदेश की सभी 90 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ने की घोषणा पहले ही की हुई है।

हरियाणा में शिरोमणि अकाली दल और भारतीय जनता पार्टी के मेल को मिलाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी कोई भूमिका निभा सकते हैं। हालांकि दोनों राज्यों के नेताओं के बीच इस प्रकार की अभी तक बातचीत नहीं हुई है, लेकिन आज की रैली के बाद दोनों तरफ से इस प्रकार की बात सामने आने लगी है।

बताया जाता है कि हाल ही में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की बैठक हुई थी जिसमें हरियाणा लोकसभा के सांसदों को लेकर सर्वे भी करवाया गया था जिसमें रिपोर्ट कार्ड कुछ अच्छा नहीं था जिसके बाद अमित शाह ने लोकसभा सांसदों को अपने इलाके में जाकर संगठन को मजबूत करने के निर्देश भी दिये गए थे।

इधर हरियाणा में शिरोमणि अकाली दल कई सीटों पर मजबूती के साथ उभर सकती है। हरियाणा की कई ऐसी सीटें है जहां पर पंजाबी बहुल है और यहां पर पंजाबी वोटरों का काफी असर पड़ता है, ऐसे में बीजेपी और शिरोमणि अकाली दल का साथ काफी मजबूती के साथ उभर सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *