सरकार और मलिक में चल रहा है खेल, ताकि जाट, नॉन जाट कर के रैली को सफल बनाया जा सके- खाप नेता सूबे सिंह समैण

राजनीति हरियाणा विशेष

सरकार और अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष यशपाल मलिक के बीच दिल्ली में हरियाणा भवन में हुई बातचीत के बाद सुलह हो गई है। जाट नेता यशपाल मलिक ने अब कहा है कि वे रैली का विरोध नहीं करेंगे।

लेकिन खाप नेता सूबे सिंह समैण ने यशपाल मलिक पर आरोप लगाया है कि हरियाणा सरकार और यशपाल मलिक के बीच नूरा कुश्ती का खेल चल रहा है ताकि रैली को सफल किया जा सके। सरकार मलिक को एक मोहरे के रूप में प्रयोग कर रही है।

साथ ही उन्होंने कहा कि सरकार प्रदेश में एक बार फिर जातीय तनाव पैदा करके सत्ता में आना चाहती है। अगर 15 फरवरी की रैली में कुछ भी अनहोनी घटना होती है तो इसके लिए सरकार जिम्मेदार होगी। सरकार मलिक को खड़ा कर के करके एक्शन के बदले रीएक्शन लेना चाहती है ताकि नॉन जाट भारी से भारी संख्या में 15 फरवरी की रैली में जींद पहुंचे।

सुबे सिंह समैण ने यशपाल मलिक और उसके समर्थकों तंज कसते हुए कहा कि यशपाल मलिक यूपी से अकेले आते हैं और उनके साथ कोई भी यूपी की जनता नहीं है। हरियाणा में जो लोग उनके साथ लगे हुए हैं वह सब केवल चंदा खोर हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *