Home Breaking किसानों और गरीबों की विरोधी है बीजेपी सरकार- दीपेंद्र हुड्डा

किसानों और गरीबों की विरोधी है बीजेपी सरकार- दीपेंद्र हुड्डा

0
0Shares

Pardeep Dhankar, Yuva Haryana
Jhajhar, 28 May, 2018

3 जून से शुरू होने जा रही भूपेंद्र सिंह हुड्डा की जन क्रांति यात्रा का जायजा लेने के लिए सांसद दीपेंद्र हुड्डा झज्जर पहुंचे थे। जहां उन्होंने कहा कि अब समय आ गया है जब हमे प्रदेश को दोबारा भाईचारे और विकास के पथ पर लेकर आने का संकल्प लेना होगा।

भाजपा पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि आज समाज का हर वर्ग इस सरकार से निराश है खासकर के किसान और प्रदेश का युवा। अब तक हम सरकार को जगाने का काम कर रहे थे, अब भगाने का काम करेंगे क्योंकि ये सरकार कुंभकर्णी नींद में सोयी हुई है, जबकि प्रदेश में चारों ओर जनता में हा-हाकार मचा हुआ है।

इसी उद्देश्य से चौ भूपेन्द्र सिंह हुड्डा जी के नेतृत्व में प्रदेश के एक छोर से दूसरे छोर तक जनक्रांति यात्रा निकाल भाजपा सरकार से उसके काम का हिसाब मांगा जायेगा और इस जनविरोधी सरकार के साथ आर- पार की लड़ाई लड़ी जाएगी।

दीपेन्द्र ने भाजपा सरकार पर संवेदनहीन होने का आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा का नया नारा है “मरे जवान मरे किसान, हमें परवाह नहीं”, देश का किसान आत्महत्या करने को मजबूर है, फसल बीमा के नाम पर निजी कंपनियों को 60 प्रतिशत तक का मुनाफा पहुँचाया है भाजपा सरकार ने। दूसरी ओर एक के बदले दस सर लाने की बात करने वाली भाजपा सरकार ने आतंकवादियों और पकिस्तान के आगे घुटने टेक दिये हैं, लगभग हर रोज जम्मू कश्मीर में हमारे बहादुर जवान शहीद हो रहे हैं और पाकिस्तानी गोली बारी के कारण 72000 परिवारों को विस्थापित करना पड़ा है।

सांसद ने भाजपा सरकार को आड़े हाँथों लेते हुए कहा कि अच्छे दिन के नाम पर भाजपा सरकार ने देश प्रदेश के लोगों को रिकॉर्ड महँगे डीजल और के दाम का तोहफा दिया है जिसने किसान समेत आम आदमी की कमर तोड़ने का काम किया है। उन्होंने बताया कि हुड्डा सरकार के कार्यकाल में वैट 7% था हरियाणा में जो देश में सबसे कम था और चारों तरफ ये कहा जाता था कि सबसे सस्ता डीजल हरियाणा में है।

मगर अब स्तिथि ठीक उसके विपरीत हो चुकी है, भाजपा सरकार ने अनापशनाप वैट और एक्साइज ड्यूटी का बोझ आम लोगों पर डाल दिया है। उन्होंने आंकड़े देते हुए बताया कि 2014 में जब कच्चे तेल की कीमत 115 डॉलर प्रति बैरल था उस समय डीजल 57 रुपये प्रति लीटर था अब जब कच्चे तेल की कीमत अन्तराष्ट्रीय बाज़ार में केवल 75 डॉलर रह गयी है तब डीजल 68 रुपये से ज्यादा हो गया है। किसान और मध्यम वर्गीय परिवारों पर कई गुना ज्यादा टैक्स थोप कर ज्यादा दाम की वसूली ने साबित कर दिया है कि यह सरकार पूरी तरह से असंवेदनशील है और इसको लोगों की तकलीफ से कोई सरोकार नहीं है।

उन्होंने भाजपा सरकार के केन्द्रीय मंत्री के बयान को हकीकत खोलने वाला बताते हुए कहा कि कि समाज के हर वर्ग में त्राहि त्राहि मची है, लोग बिजली पानी जैसी मूलभूत सुविधाओं के लिये तरस रहे हैं, किसान को ट्रेक्टर, खाद और कीटनाशक खरीद पर जीएसटी की मार झेलनी पड़ रही है, लगभग समाज का हर वर्ग सड़कों पर आन्दोलन करने को मजबूर है और ऐसे में मुख्यमंत्री फन डे मना रहे हैं और लोगों को डंडे खाने पड़ रहे हैं।

सांसद दीपेन्द्र हुड्डा ने कहा कि आज प्रदेश में विकास का पहिया पूरी तरह रुक चूका है, पिछले चार साल में कोई नयी विकास परियोजना मंजूर करने में नाकाम रही है भाजपा सरकार। उन्होंने जनक्रांति में सभी से बड़ी संख्या में भाग लेने को कहा।

 

Load More Related Articles
Load More By Yuva Haryana
Load More In Breaking

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

प्रदेश की हर छोटी बड़ी खबरें पढ़ने के लिए देखिए Yuva Haryana Top News

Yuva Haryana Top News, 06 Aug. 2020 1. हरियाणा &…