भिवानी में बीजेपी को दो नेताओं के बीच विवाद बढ़ा, खून खोल रहा था इसलिए लगाया रक्तदान शिविर

Breaking Uncategorized चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा

Sahab Ram, Yuva Haryana
Chandigarh, 15 June, 2018
दो दिन पूर्व भिवानी में उड़ीसा के राज्यपाल प्रो.गणेशीलाल के अभिनंदन समारोह में बीजेपी विधायक घनश्यामदास सर्राफ एवं बीजेपी प्रदेश सचिव मुकेश गौड़ के बीच हुई धक्कामुक्की एवं वाकयुद्ध के मामले को लेकर आज बीजेपी प्रदेश सचिव ने एमएलए के बेटे को सदबुद्धि देने के नाम पर रक्तदान शिविर का आयोजन किया।

आज सुबह बीजेपी सचिव की अगुवाई में उनके समर्थकों ने भिवानी के लोहड़ चोपटा में रक्तदान शिविर लगाया मगर शिविर का उद्देश्य देखकर शायद हर कोई हैरत में पड़ेगा। जेा बैनर लगाया गया था उस बैनर में विधायक पुत्र को सदबुद्धि दिए जाने की बात लिखकर रक्तदान शिविर के आयोजन की वजह बताई गई।

बीजेपी प्रदेश सचिव मुकेश गौड़ ने कहा कि 13 जून की घटना के बाद उनके समर्थकों का खून खौल रहा था तथा कोई गड़बड़ ना हो इसलिए उन्होंने रक्तदान के जरिए रक्त निकालने की बात सोची। उन्होंने कहा कि पहले भी उनके साथ ऐसा हो चुका है व पहले भी उनकी फजीहत हुई है। उन्होंने कहा कि अगर उन्हे ंपहले पता होता कि यह किसी जाति विशेष का कार्यक्रम है तो वे हरगिज कार्यक्रम में नहीं जाते। यह बात उनकी समझ में बाद में आई।

उन्होंने कहा कि बीजेपी संस्कारी पार्टी है तथा संस्कारों की उम्मीद की जाती है।  उन्होंने कहा कि मैंने ऐसा कोई व्यवहार नहीं किया जिससे पार्टी की छवि धूमिल हो। उन्होंने कहा कि शक्ति प्रदर्शन जैसी कोई बात नहीें है। उन्होंने कहा कि जिसको भी पार्टी टिकट देगी वे उसका साथ देंगे।

उनहोंने कहा कि वे भी टिकट की महत्त्वाकांक्षा रखते हैं। उन्होंने कहा कि ये समय चुनाव का नहीं है पर वे भी दावेदार हैं। उन्होंने ठीकरा घनश्यामदास के बेटे व उनके समर्थकों पर फोड़ा। उन्होंने कहा कि पहले से योजना थी कि उनके साथ ऐसा व्यवहार किया जाए। उन्होंने साथ ही दोहराया कि जो समर्थक उनक ेलिए खून दे सकते हें वे कुछ भी कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *