फिर बैकफुट पर मनोहर सरकार, गुरुग्राम के सिलोखरा में नहीं बनेगा भाजपा दफ्तर

Breaking Uncategorized चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष
Yuva Haryana
Gurugram, 08 August, 2018
गुरुग्राम के सिलोखरा में बनने वाले बीजेपी दफ्तर को लेकर एक बार फिर मनोहर सरकार बैकफुट पर आ गई है। सरकार ने इस जमीन की बजाय किसी अन्य जगह की तलाश शुरु कर दी है।
भाजपा ने गुरुग्राम सिलोखरा में  23 अप्रैल को विधिवत पूजा कर अपने जिला कार्यालय के लिए नीव तो रखी लेकिन ग्रामीणों ने इसका विरोध करना शरू कर दिया। गांव सिलोखरा (सेक्टर 41) में ऑफिस साइट को लेकर विवाद लगातार बढ़ता गया और इसमें ग्रामीणों के साथ साथ दूसरे राजनैतिक दलों ने भी इसका विरोध शुरू कर दिया था।
अब इस पनपे विवाद को लेकर भाजपा बैकफुट पर आई और बीजेपी ने यहां ऑफिस नहीं बनाने का फैसला लिया है। भाजपा जिला अध्यक्ष ने इस साइट के बदले में वैकल्पिक साइट देने का आग्रह किया है।
बताया जा रहा है कि वैकल्पिक साइट को लेकर मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने भी अधिकारियों को दिशानिर्देश भी जारी कर दिए हैं। बताया जा रहा है कि बीजेपी को अब ऑफिस के लिए सेक्टर 30, 33 या 44 में जमीन दी जा सकती है।
30 वे दिन भी धरना जारी रहा ग्रामीणों का कहना है की जब तक मुख्य मंत्री आकर उनको आश्वाशन नहीं देते तब तक धरना जारी रहेगा हालांकि बीजेपी ने अपने दफ्तर के लिए हुड्डा विभाग से दूसरी जगह जमीन देने का आग्रह किया है 
गौरतलब है कि 14 अक्टूबर, 2016 को हूडा ने ऑफिस के लिए बीजेपी को सेक्टर-41 में जमीन अलॉट की थी। सिलोखरा के ग्रामीणों ने यह कहकर विरोध शुरू किया था कि बीजेपी को ऑफिस के लिए दिया गया प्लॉट असल में जोहड़ की जमीन है। यहां दोबारा जोहड़ बनाया जाए, जिससे ग्राउंड वॉटर रिचार्ज होगा।
गुरुग्राम के सिलोखरा गांव में करीब 12 एकड़ जमीन गांव की है. वहीं इस जमीन पर ग्रामीणों की मांग थी कि कम्यूनिटी सेंटर बने और लोगों की सुविधा के लिए इस जमीन का प्रयोग किया जाये।
अब भाजपा का कहना है कि उसने नियमो के हिसाब से पैसे लेकर जमीन ली थी लेकिन लोगो की जनभावनाओं को देखते हुए वैकल्पिक साइट देने का आग्रह किया है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *