सुभाष बराला का इनेलो- बसपा पर तंज, कहा शुभ दिन पर बेमेल ब्याह की तरह है ये गठबंधन

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति शख्सियत सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

Panchkula, 19 April, 2018

इनेलो- बसपा गठबंधन होने के बाद विपक्षी दल अपने अलग- अलग बयान देने से पीछे नहीं हट रहे हैं। अब भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला ने कहा कि इनेलो-बसपा का गठबंधन अक्षय तृतीया के शुभ दिन पर भी बेमेल शादी की तरह है।

उन्होंने कहा कि इनेलो साल 1998 के लोकसभा चुनाव मतदान के दिन ही बसपा से गठबंधन तोड़कर साबित कर चुकी थी कि मन से वे कभी एक नहीं हो सकते हैं।

बराला ने कहा कि एक समय था, जब स्व. देवीलाल तीसरे मोर्चे की धुरी होते थे, लेकिन आज उनके वारिसों ने इनेलो को रसातल में पहुंचाकर ऐसे हालात पैदा कर दिए कि उन्हें बसपा अध्यक्षता की अगुवाई में अपनी पार्टी को जिंदा रखने की कोशिश करनी पड़ रही है।

इनता ही नहीं उनका कहना है कि अक्षय तृतीया को शुभ दिन मानकर निर्णय लिए जाते हैं, लेकिन 2 पार्टियां जिनकी राजनीतिक इच्छा- शक्ति ही खत्म हो चुकी है और अपना वजूद बचाए रखने के लिए एक- दूसरे का सहारा बनने की कोशिश कर रहे हैं।

ये तो साफ तौर पर नजर आ रहा है कि इस गठबंधन में दोनों दलों का मकसद अपना राजनीतिक फायदा देखना है। इनेलो ने 1998 के लोकसभा चुनाव में बसपा के साथ गठबंधन करते हुए नारा दिया था कि ‘रख कर पत्थर छाती पर, मोहर लगाओ हाथी पर’।

एक ओर तो चुनाव के लिए मतदान हुआ और उसी शाम इनेलो ने बसपा के साथ गठबंधन तोड़ने का ऐलान कर दिया था। आज फिर से बसपा के साथ गठबंधन कर इनेलो ने केवल अपने कार्यकर्ताओं को छिटकने से रोकने का प्रयास किया है।

1 thought on “सुभाष बराला का इनेलो- बसपा पर तंज, कहा शुभ दिन पर बेमेल ब्याह की तरह है ये गठबंधन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *