अविश्वास प्रस्ताव की बैठक में पहुंचे सिर्फ पांच सदस्य, बच गई चेयरपर्सन की कुर्सी

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Pardeep Dhankar, Yuva Haryana

बहादुरगढ़ में भाजपा के पूर्व विधायक नरेश कौशिक को बड़ा झटका लगा है। उनके सहयोग और कोशिशों से पंचायत समिति चैयरपर्सन के खिलाफ लाया गया अविश्वास प्रस्ताव औंधे मुह गिर गया है। भारतीय जनता पार्टी समर्थित ब्लॉक समिति चैयरपर्सन मोनिका गौड की कुर्सी बच गयी है। अविश्वास प्रस्ताव को लेकर बुलाई गई बैठक में सिर्फ पांच सदस्य ही पहुंचे । कोरम पूरा नही होने के कारण एडीसी जगनिवास ने बताया  की अविश्वास प्रस्ताव  की बैठक में सदस्यो के नही पहुंचने के कारण अविश्वास प्रस्ताव गिर गया  है।

उन्होंने कहा कि चैयरपर्सन की कुर्सी सुरक्षित है। अविश्वास प्रस्ताव गिरनेके बाद चैयरपर्सन मोनिका के पति युद्धवीर ने कहा कि  अविश्वास प्रस्ताव लाने के पीछे पूर्व भाजपा विधायक नरेश कौशिक  का हाथ है। उन्होंने कहा कि उनके पास सबूत है कि नरेश कौशिक के साथ रहने वाले लोगो ने ब्लॉक समिति सदस्यों को अविश्वास प्रस्ताव के लिए फ़ोन किया है।

हम आपको बता दें कि युद्धवीर भारद्वाज पहले नरेश कौशिक के नजदीकी होते थे लेकिन विधानसभा चुनावों में भाजपा की टिकट को लेकर नरेश कौशिक और युद्धवीर भारद्वाज आमने सामने आ गए थे। ब्लॉक समिति बहादुरगढ़ के 30 सदस्य है जिनमे से 24सदस्यो ने जिला उपायुक्त को चैयरपर्सन मोनिका के खिलाफ 10 दिसंबर को अविश्वास का नोटिस दिया था। अविश्वास प्रस्ताव को पास कराने के लिए 20 सदस्यो का हाजिर होकर वोट करना जरूरी था लेकिन  बैठक में केवल 5 सदस्य ही पहुंचे जिसके कारण मोनीका की कुर्सी बच गयी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *