हमारी सरकार बनते ही बनेगा ब्राह्मण कल्याण बोर्ड, भगवान परशुराम के नाम से बनाएंगे संस्कृत विश्वविद्यालय -रणदीप सुरजेवाला

Breaking बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा

Yuva Haryana

कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा है कि हरियाणा म कांग्रेस की सरकार बनते ही ब्राह्मण कल्याण बोर्ड का गठन किया जाएगा और भगवान परशुराम के नाम पर संस्कृत विश्वविद्यालय खोला जाएगा। इसके अलावा जो 40 से 50 प्रतिशत ब्राह्मण व्यक्ति निजी स्कूल चलाते हैं जो आर्थिक तंगी के कारण स्कूल को आगे नही बढ़ा पाते उन्हें बिना किसी गारंटी के 4 प्रतिशत की ब्याज दर पर अगर कई व्यक्ति है तो 10 लाख और एक व्यक्ति को 5 लाख तक का लोन बोर्ड के 11 प्रभुत्व व्यक्तियों के द्वारा देने का प्रावधान किया जाऐगा।

कुरुक्षेत्र में आयोजित ब्राह्मण सम्मेलन में रणदीप ने कहा कि स्वाभिमान का ज्ञान ब्राह्मण ही दे सकता है क्योंकि सिक्कों की खनक ब्राह्मण के ज्ञान को खरीद नही सकती। इसलिए आज ब्राह्मण समाज के आह्वान की आवश्यकता है।

कांग्रेस मीडिया प्रभारी व कांग्रेस कोर कमिटी के सदस्य रणदीप सिंह सुरजेवाला ने ब्राह्मण समाज के लोगों से वायदा करते हुए कहा कि कांग्रेस की सरकार सत्ता में आते ही ब्राह्मण कल्याण बोर्ड का गठन किया जाऐगा। उस बोर्ड का चेयरमैन भी ब्राह्मण समाज के व्यक्ति को ही बनाया जायेगा और उस बोर्ड में 100 करोड़ से 300 करोड़ की एकमुश्त राशि डाली जाएगी ताकि आर्थिक तंगी के कारण जो बच्चा हायर एजुकेशन से वंचित हो, इस बोर्ड की मदद से अपनी पढ़ाई बेझिझक पूरी कर सके।
उन्होंने कहा कि शाहबाद, करनाल, पानीपत, कैथल में करीब 368 तीर्थों का जीर्णोद्धार करवाया जाऐगा और उन तीर्थों में पूजा अर्चना की जिम्मेवारी भी गांव के ही योग्य ब्राह्मण को दी जाएगी। इसके साथ ही भगवान परशुराम के नाम से संस्कृत विश्वविद्यालय का गठन किया किया जाऐगा। उस विश्वविद्यालय में कर्मकांड की ट्रेनिंग के साथ साथ डिग्री और स्नातक की डिग्री भी दी जाएगी।
कुरुक्षेत्र यूनिवर्सिटी, महर्षि दयानंद यूनिवर्सिटी और सिरसा यूनिवर्सिटी में एक एक चेयर की स्थापना करेंगे जिसमें एक भगवान परशुराम चेयर, एक दादा लखमी चंद चेयर और एक पंडित भगवत दयाल शर्मा चेयर होगा। गरीब ब्राह्मणों को 10 प्रतिशत आरक्षण का प्रावधान किया जाऐगा। उन्होंने कहा कि एचपीएससी बोर्ड के तहत ब्राह्मण समाज के प्रभुत्व नागरिकों को राजनीतिक तौर पर हिस्सेदारी दी जायेगी।

सुरजेवाला ने कहा कि ब्राह्मण समाज ने भाजपा को फर्श से अर्श पर ले जाने का काम किया लेकिन भाजपा ने ब्राह्मणों को दरकिनार करते हुए अर्श से फर्श पर ले जाने का काम किया है। उन्होंने कहा कि आज भाजपा शासन में ब्राह्मण समाज पीड़ा के द्वार पर क्यों है? ब्राह्मण समाज आर्थिक, राजनीतिक और सामाजिक पिछड़ेपन का शिकार क्यों है? इसलिए आज इस ब्राह्मण सम्मेलन के द्वारा एक नई जनजागृति करने की आवश्यकता है।
सुरजेवाला ने कहा कि कांग्रेस के खून में ब्राह्मण समाज का डीएनए है। जंग ए आजादी की लड़ाई से लेकर आज तक ब्राह्मण समाज का नेतृत्व सबसे अहम रहा है। जिसने समाज को आगे बढ़ने का रास्ता दिया। आजादी की लड़ाई के प्रथम महानायक मंगल पांडे और कांग्रेस का नेतृत्व करने वाले पंडित रामप्रसाद बिस्मिल, मदन मोहन मालवीय, पंडित चंद्रशेखर आजाद, बाल गंगाधर तिलक, पंडित मोतीलाल नेहरू, पंडित जवाहर लाल नेहरू और अब राहुल गांधी ने इस समाज के नेतृत्च को आगे बढ़ाया।

सुरजेवाला ने कहा कि ब्राह्मणों की अनदेखी, विषमता का शिकार होने के पीछे भाजपा जिम्मेवार है। भाजपा ने हमेशा ब्राह्मणों का इस्तेमाल किया। 40 साल तक भाजपा की सेवा करने वाले जिनकी अध्यक्षता और नेतृत्व में  ने हरियाणा में सत्ता हासिल की उसी रामविलास शर्मा को भाजपा ने दरकिनार करते हुए मोदी ने बेतजूर्बेदार अपने सखा को मुख्यमंत्री बना दिया। भाजपा ने दूध से मख्खी की तरह निकालने की तरह रामविलास शर्मा का उपयोग किया है। मोदी ने राजनीतिक षडयंत्र के तहत रामविलास शर्मा की सियासी हत्या की है। इसी तरह दिल्ली में सुषमा स्वराज और अरुण जेटली के साथ किया और उत्तर प्रदेश नें महेश शर्मा व लक्ष्मीकांत वाजपेयी के साथ किया। भाजपा ने सत्ता लालच के लिए ब्राह्मणों का हमेशा दुरुपयोग किया है।
खट्टर सरकार पर प्रहार करते हुए सुरजेवाला ने कहा कि हरियाणा की खट्टर सरकार ने ब्राह्मण समाज के विश्वास और सम्मान पर कुठाराघात किया है। एचएसएससी बोर्ड के पेपर में ब्राह्मण समाज के रंग के आधार पर अपशगुन वाला सवाल पूछना खट्टर सरकार की गंदी व घृणा से भरपूर सोच को प्रदर्शित करती है। लेकिन खट्टर सरकार ने चेयरमैन भारती पर कोई कार्रवाई न करके उन्हें तीन साल की एक्सटेशन देकर एचएसएससी बोर्ड का अध्यक्ष बना दिया। उस समय सबसे पहले भाजपा सरकार के खिलाफ मैने ही आवाज उठाई थी।
मुख्यमंत्री खट्टर की विधानसभा करनाल में चार ब्राह्मण पुजारियों की निशन्स हत्या होती है लेकिन न आज तक मुख्यमंत्री खट्टर गया, न कोई मंत्री और न ही कोई विधायक हाल जानने गया और ना ही आरोपी पकड़े गए। इसलिए एक मिनट भी खट्टर सरकार को सत्ता में रहने का कोई हक नही है। उन्होंने कहा कि आज भगवान परशुराम का फरसा उठाने की जरूरत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *