फिर एक बेटी चढ़ी दहेज की बली, गर्भवती के पति ने परिवार संग मिलकर कर दी हत्या

Breaking अनहोनी चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Dinesh Kumar, Yuva Haryana

Faridabad, 10 June, 2018

न जाने क्यों लोग आज भी दहेज के लिए भूखे रहते हैं। अपने इस लालच के चलते सही और गलत में फर्क तय करना भी इन्हें याद नहीं रहता।

अब फरीदाबाद से ताजा मामला सामने आया है, जहां एक मां-बाप ने अपनी बेटी की 3 महीने पहले ही डोली सजाई थी। लेकिन नवविवाहिता को उसी के पति और ससुराल वालों ने दहेज के लिए फांसी लगाकर मारने की कोशिश की।

15 दिन तक तो गर्भवती ज्योति ने मौत से जंग लड़ी थी, लेकिन आखिर में वो हार गई और उसकी मौत हो गई।

बल्लबगढ़ की रहने वाली ज्योति पेशे से एक प्रोडक्शन इंजीनियर थी और तीन महीने पहले ही उसकी शादी हुई थी। दहेज के भूखे ससुराल वालों ने मनचाहा दहेज न देने पर उसे मौत की नींद सुला दिया।

बता दें कि ज्योति के पति अभिमन्यु ने घरवालों संग मिलकर फांसी लगाकर मारने का प्रयास किया, इसके बाद उन्होंने ज्योति के मायके फोन कर ये कहा कि उनकी बेटी की तबियत बिगड़ गई है और वो उसे अस्पताल लेकर जा रहे हैं।

ज्योति के परिजन जैसे ही घर पहुंचे तो पति अभिमन्यु उसे छोड़कर फरार हो गया। जिसके बाद परिजनों ने पीड़िता को अस्पताल में भर्ती करवाया। वहां डॉक्टर ने बताया कि उनकी बेटी का गला दबाया गया था, जिस कारण उसे कार्डियक अटैक पड़ा है।

लेकिन करीब 15 दिन तक अस्पताल में रहने के बाद ज्योति ने दम तोड़ दिया।

वहीं बहन ने बताया कि दुर्घटना वाले दिन ज्योति मां से डेढ़ लाख रुपये मांगने आई थी, मां ने कहा था कि कुछ दिन तक इंतजाम करके देंगी। बहन ज्योति 4 हफते गर्भवती भी थी।

गंभीर अवस्था होने के कारण ज्योति के इन 15 दिनों में भी बयान दर्ज नहीं हो पाए थे, लेकिन ज्योति के परिजनों ने ससुरालवालों के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई है।

पुलिस ने पति को गिरफ्तार कर लिया है और सभी ससुराल वालों पर केस भी दर्ज कर लिए गए हैं। अब पुलिस आगे की जांच करने में जुटी हुई है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *