जाट आरक्षण दंगों के लिए भाजपा जिम्मेदार, प्रकाश कमेटी की रिपोर्ट में हुआ है साफ- हुड्डा

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा
Deepak Khokhar, Yuva Haryana
Rohtak, 10 July, 2018
पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने जाट आरक्षण आंदोलन के दौरान हुई हिंसा के लिए भाजपा सरकार को ही जिम्मेदार ठहराया है। हुड्डा का यह बयान उस समय आया है जब सीबीआई ने वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु के आवास पर आगजनी के सिलसिले में चार्जशीट दाखिल की है। इस चार्जशीट में कई आरोपी ऐसे हैं, जो कांग्रेस पार्टी से जुड़े हुए हैं। इसी पर सीएम मनोहर लाल खट्टर ने विपक्ष पर षड्यंत्र रचने का आरोप लगाया था। अब हुड्डा ने पलटवार करते हुए भाजपा सरकार को ही कटघरे में खड़ा करने का प्रयास किया है। 
मंगलवार को यहां प्रेस कांफ्रेंस के दौरान पूर्व सीएम ने प्रकाश सिंह कमेटी का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि प्रकाश सिंह कमेटी ने अपनी रिपोर्ट में सरकार को ही जिम्मेदार ठहराया था। कमेटी की रिपोर्ट से सरकार का चेहरा बेनकाब हो चुका है। प्रकाश सिंह कमेटी का गठन मौजूदा भाजपा सरकार ने फरवरी 2016 में जाट आरक्षण आंदोलन के दौरान हुई हिंसा के बाद किया था। उत्तर प्रदेश के पूर्व डीजीपी प्रकाश सिंह को कमेटी का अध्यक्ष बनाया था। इस कमेटी ने अपनी रिपोर्ट सरकार को सौंप दी थी, लेकिन सरकार ने इसे लागू नहीं किया। 
वहीं, भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने एसवाईएल नहर के मुद्दे पर इनेलो के जेल भरो आंदोलन पर भी चुटकी ली। उन्होंने कहा कि नकली, लड़ाई, नकली गिरफ्तारी और नकली रिहाई। दरअसल एसवाईएल के मुद्दे पर इनेलो सिर्फ नौटंक कर रही है। एक सवाल के जवाब में हुड्डा ने कांग्रेस पार्टी में मतभेद के मुद्दे पर भी सफाई दी। उन्होंने कहा कि किसी से कोई गिला शिकवा नहीं है। हरियाणा में कांग्रेस पार्टी एक है और सभी कांग्रेस को मजबूत करने में लगे हुए हैं। कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष पद के बारे में पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा कि इस बारे में प्रस्ताव पास कर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को अधिकृत कर रखा है। 
पूर्व सीएम ने यह भी कहा कि भाजपा सरकार किसान को फसल के सही दाम और कर्ज माफ करे। उन्होंने कहा कि सरकार ने किसानों की जमीन की नीलामी और किसानों की बर्बादी पर नाचने के अलावा कुछ नहीं किया। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *