जाटलैंड में मायावती ने भरी हुंकार, जाटों की रिझाने की पूरी-पूरी कोशिश

Breaking Uncategorized चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा हरियाणा विशेष

Pardeep Dhankar, Yuva Haryana
Bahadurgarh, 18 Oct, 2019

हरियाणा की जाटलैंड में हुंकार भरते हुए बसपा सुप्रीमो ने जाटों को रिझाने का प्रयास किया है। उन्होंने कहा है कि केवल बसपा ही ऐसी पार्टी है जिसने सबसे पहले जाट आरक्षण का समर्थन किया था। बेरी में हरियाणा के विभिन्न हलकों के प्रत्याशियों के समर्थन में चुनावी रैली को सम्बोधित करने आई मायावती ने भाजपा व कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा।

उन्होंने कहा कि जब से देश आजाद हुआ है उसके बाद से भाजपा व कांग्रेस दोनों पार्टियों ने पूंजीपतियों के हित में ही योजनाएं बनाकर उन्हें लाभ पहुंचाया है। क्योंकि जब यह पार्टियां लोस व विस चुनाव जब लड़ती है तो पंूजीपति इन्हें मदद पहुंचाती है। जिसे बाद में यह पार्टियां।सत्ता में आने के बाद इन्हीं पूंजीपतियों को लाभ पहुंचाती है। लेकिन बसपा एक ऐसी पार्टी है जोकि गरीब व कमेरा वर्ग के अलावा, किसान, मजदूर को साथ लेकर चुनाव लड़ती है और जब सत्ता आती है तो इन्हीं के हित में योजनाएं बनाती है।

उन्होंने कहा कि जिस तरह से मौजूदा विस चुनाव में बसपा को हरियाणा के लोगों का समर्थन मिल रहा है उससे साफ प्रतीत होता है कि चुनावी रिजल्ट भाजपा के पक्ष में होंगे। उन्होंने कहा कि हरियाणा में बसपा की सरकार बनने के बाद गरीब,कमेरा, किसान, मजदूर हित में कई कल्याणकारी योजनाएं बनाई जाएगीं। बेरोजगार युवकों के लिए सरकारी नौकरियों का स्थाई प्रबन्ध किया जाएगा।

उन्होंने रैली में मौजूद लोगों से भाजपा,कांग्रेस व अन्य पार्टियों के किसी भी चुनावी घोषणा पत्र पर ध्यान न दिए जाने की अपील की। उन्होंने कहा कि यह पार्टियां केवल लोकलुभावने वायदे कर सत्ता मिलते ही उन्हें भूल जाती है। जबकि बसपा एक ऐसी पार्टी है जोकि कभी भी अपना चुनावी घोषणा पत्र जारी नहीं करती। कारण कि बसपा केवल काम में विश्वास करती है और सर्व समाज के हित की बात सोचती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *