टोहाना में सांड की टक्कर से बुजुर्ग की मौत, प्रशासन के कैटल फ्री दावे पर लोगों ने उठाए सवाल

Breaking अनहोनी चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Naval Singh, Yuva Haryana

Tohana, 12 Feb, 2019

प्रदेश में आवारा पशु बड़ी समस्या बनते जा रहे हैं जिसमें टोहाना का नाम बार-बार दुर्घटनाओं की वजह से शामिल हो जाता है। यहां के साडों के लड़ते वीडियों भी लगातार वायरल होते हैं। इस बार टोहाना के सांड किसी की जान लेने के लिए फिर से सुर्खियों में आ गए हैं। इस बार निशाना बना है एक बुर्जग, बंशी सेठी जो शाम को घुमकर घर की तरफ वापिस जा रहा था।

इस बुर्जग को सांड ने अपने सींग पर उठाकर जमीन पर पटक दिया, जिससे उसकी मौत हो गई। एक बार फिर से प्रशासन के कैटल फ्री दावे को सांड ने सावालिया निशान लगा दिया। वहीं मृतक की गली में अभी भी कई आवारा पशु घुम रहे हैं, जिनपर स्थानिय निवासी भी सवालिया निशान लगा रहे हैं।

मृतक बंशी सेठी के घर आने-जाने वालों का तांता लगा है, वहीं उनके परिवार के सदस्यों को रो-रोकर बुरा हाल है। देखना है कि अबकी बार इस घटना से सबक लेकर प्रशासन कुछ सखत कदम उठाता है या इसी तरह से कैटल फ्री के दावे करके खुद की पीठ धपधपाता रहेगा।

मृतक के भाई टेकचन्द ने बताया कि उसका भाई प्रतिदिन की तरह घुम कर वापिस आ रहा था कि उसे एक सांड ने अपने सींग से उठाकर पटक दिया, जिससे उसकी मौत हो गई मौके पर कुछ लोगों ने उसे अस्पताल पहुंचाया, पर उसकी मौत हो चुकी थी। इससे पहले भी एक सांड ने उनके भाई को टक्कर मारी थी. जिसका ईलाज चल रहा था।

उनका कहना था कि इससे पहले भी अवारा पशुओं को लेकर शिकायत कर चुके हैं, पर कोई हल नहीं हुआ। उनकी गली में अभी भी तीन मारक सांड घुम रहे हैं। इस बारे में उनका कहना था कि वो सिरसा में मुखयमंत्री से मिलकर प्रशासन की शिकायत करेंगे। मतृक की बेटी का रो-रोकर बुरा हाल था, घर की महिलाओं का कहना था कि परिवार ने एक मुखिया प्रशासन की गलती की वजह से खो दिया। इसकी भरपाई कौन करेगा।

वहीं उन्होनें रोते-रोते आवारा पशुओं से निजात दिलाने की मांग प्रशासन से मिडिया के माध्यम से की। शिक्षाविद् स्थानीय निवासी बलदेव सैनी ने मौके पर ही गली का दृश्य दिखाते हुए प्रशासन के कैटल फ्री दावे पर सवालियां निशान खड़े किए व कहा कि प्रशासन को इस समस्या से गंभीरता से निपटना चाहिए, जिससे आम आदमी की जिन्दगी की सुरक्षा हो सके, उनका कहना था कि उनकी गली में दो स्कूल है ये सांड बड़ा खतरा बने हुए है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *