कैग के द्वारा किए सर्वे में खुलासा MDU कैंपस में सेफ नही लड़कियां, 46% हुई छेड़छाड़ का शिकार

बड़ी ख़बरें हरियाणा

लड़कियों की सुरक्षा के मामलें में रोहतक का MDU भी सुरक्षित नही है। यहां पढ़ने वाली हर दूसरी लड़की छेड़छाड का शिकार होती जा रही है। यहीं नही 50 फीसदी से ज्यादा लड़कियां ऐसी है, जो कैंपस में सुरक्षा को लेकर चिंतित है।

कैग ने अपनी रिपोर्ट में यह खुलासा किया है। कैग की टीम ने खुद विश्वविद्यालय की मदद से कैंपस सर्वे किया था। सर्वे में परिसर की अनियमितताओं के साथ-साथ लड़कियों के साथ छेड़छाड़ का मामला सामने आया है। अलग-अलग कोर्स के कुल 183 विद्यार्थियों पर किए गए इस सैंपल सर्वे में 132 लड़कियां और 51 लड़कों को शामिल किया गया था। इसके लिए उन्हें प्रश्नावली दी गई थी जिसमें खराब औसत, अच्छे और बेहतर के कॉलम थे।

सर्वे में खुलासा हुआ कि 46% छात्राएं छेड़छाड़ का शिकार हुई है। ये वे छात्राएं है, जिन्होंने सर्वे में इनका खुलासा किया है। इनमें से सिर्फ 12% ने शिकायत दर्ज करवाई है। 50% लड़कियों का मानना है कि यूनिवर्सिटी कैंपस में वे सुरक्षा को लेकर चिंतित है। कैग टीम ने जब यूनिवर्सिटी प्रशासन से जवाब-तलब किया तो सिंतबर 2017 में यह बताया गया कि शिकायतों के निवारण के लिए एक कमेटी बनाई गई है। साथ ही रोहतक पुलिस का भी साथ लिया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *