पिछले चुनाव का काफी उम्मीद्वारों ने नहीं दिया खर्चा का ब्यौरा, इस बार लगा चुनाव लड़ने पर बैन

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष
Sahab Ram, Yuva Haryana
Chandigarh, 22 Nov, 2018
हरियाणा में नगर निकाय संस्थाओं का चुनाव लडक़र अपने चुनावी खर्च का समय पर ब्यौरा जमा न करवाने वाले उम्मीदवारों के लिए हरियाणा राज्य चुनाव आयोग ने सख्त रूख अख्तियार कर लिया है। पिछले चुनाव के दौरान हुए खर्च का विवरण निर्धारित अवधि में न दिए जाने के कारण आयोग ने हिसार, रोहतक, यमुनानगर,पानीपत एवं करनाल नगर निगम से संबंधित 531 उम्मीदवारों को इस बार का चुनाव लडऩे के अयोग्य घोषित किया है।
हरियाणा के राज्य चुनाव आयुक्त डॉ. दलीप सिंह ने आज यहां पत्रकार वार्ता के दौरान बताया कि अगर कोई उम्मीदवार चुनाव परिणाम के एक महीने के अंदर-अंदर अपने चुनावी खर्च का विवरण अपने जिला के उपायुक्त या राज्य चुनाव आयोग द्वारा नामित अधिकारी के समक्ष जमा नहीं करवाता है तो वह अगले पांच साल तक चुनाव लडऩे के लिए अयोग्य होगा, यह अवधि पहले तीन साल की थी।
उन्होंने बताया कि वर्ष 2013 में नगर निकाय का चुनाव जिन उम्मीदवारों ने लड़ा था , उनमें से हिसार के 113, करनाल के 128, पानीपत के 95, रोहतक के 100 तथा यमुनानगर के 95 उम्मीदवारों ने अपने चुनावी खर्च का विवरण परिणाम के बाद उपायुक्त को नहीं दिया जिसके कारण इन सभी उम्मीदवारों को चुनाव लडऩे के अयोग्य घोषित किया गया है।
उन्होंने बताया कि नगरपालिका का सदस्य दो लाख, नगर निगम का सदस्य 5 लाख तथा मेयर द्वारा चुनाव में खर्च करने की सीमा 20 लाख रूपए निर्धारित की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *