पार्टी निर्धारित करेगी कहां से लड़ना है लोकसभा या विधानसभा का चुनाव- कैप्टन अभिमन्यु

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति शख्सियत सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

हरियाणा के वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने कहा कि भाजपा सरकार अपने चुनावी घोषणा पत्र के वायदों को पूरा करने की दिशा में तेज़ी से कार्य कर रही है और 2019 के चुनावों में पार्टी 2014 के घोषणा पत्र का हिसाब साथ में लेकर जनता के दरबार में जाएगी।

वित्त मंत्री एक कार्यक्रम में सवालों के जवाब दे रहे थे। उन्होंने कहा कि विपक्ष के पास कोई मुद्दा नहीं है और इसीलिए अब विपक्ष की पूरी राजनीति आरोप-प्रत्यारोप पर सिमट गई है।

अगला चुनाव विधानसभा या लोकसभा के लिए लड़ने के सवाल पर वित्त मंत्री ने कहा की वे भाजपा के सिपाही हैं। किस सिपाही की क्या जिम्मेदारी लगाई जाएगी यह तय करने का कार्य पार्टी हाईकमान का है। उन्हें जो भी जिम्मेदारी दी जायेगी वे उसका पालन करते हुए पार्टी को मजबूत करने में अपनी भूमिका निभायेंगे। केन्द्रीय मंत्री राव इंद्रजीत के तेवरों पर वित्त मंत्री ने कहा कि राव इन्द्रजीत वरिष्ठ नेता हैं। वे भाजपा की सरकार में मंत्री हैं और वे पार्टी को मजबूत करने के लिए काम कर रहे हैं।

वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने कहा कि पैट्रोल और डीजल को जीएसटी में लाने में कोई खास दिक्कत नहीं है। सही समय आने पर जीएसटी काउन्सिल इस सबंध में निर्णय लेगी। जीएसटी की दरों में बार- बार बदलाव पर उन्होंने कहा कि इस सिस्टम को बेहतर बनाने के लिए अब तक काउंसिल की 28 बैठकें हो चुकी हैं। जनता से मिले फीडबैक के आधार पर ही बदलाव किये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने दिल्ली एनसीआर की तर्ज पर चंडीगढ़, पंचकूला और मोहाली के डेवलपमेंट के लिए बोर्ड बनाये जाने का जो सुझाव दिया है वह बहुत बेहतरीन सुझाव है। ऐसा हो जाने से इन तीनों शहरों का संतुलित और बेहतर विकास हो सकेगा।

उन्होंने कहा की एसवाईएल के मुद्दे पर हरियाणा के विपक्षी दल, इनेलो और कांग्रेस ने सिर्फ राजनीति की है और आज भी दोनों दल इस पर राजनीति ही कर रहे हैं। इन दोनों दलों ने 2000 से लेकर 2014 तक हरियाणा में सरकार चलाई लेकिन इस नहर में पानी लाकर हरियाणा के गले को तर करने की दिशा में एक भी कदम नहीं उठाया। 2014 में हरियाणा में भाजपा की सरकार बनते ही इस दिशा में संजीदा प्रयास शुरू किये गये जिसके फलस्वरूप सुप्रीम कोर्ट में एसवाईएल का निर्णय हरियाणा के पक्ष में आ गया है। उन्हें उम्मीद है कि नहर में पानी का संकल्प भी बहुत जल्द पूरा होगा। विपक्षी दलों को इस मुद्दे पर सत्य को स्वीकार करके राजनीति करने से बचना चाहिए। कैप्टन अभिमन्यु ने कहा कि चंडीगढ़ पर हरियाणा का पूरा अधिकार है और यह अधिकार कायम रहेगा इसमें किसी को कोई संदेह नहीं होना चाहिए।

कैप्टन अभिमन्यु ने कहा कि रोहतक दंगों में सीबीआई की चार्जशीट को लेकर उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस पार्टी पर बहुत जिम्मेदारी से सवाल उठाये हैं। चार्जशीट में जिन भी लोगों को आरोपी के तौर पर शामिल किया गया है उन सभी के सबंध कांग्रेस और पूर्व मुख्यमंत्री से हैं। आखिर क्या वजह है कि रोहतक में कर्फ्यू तोड़ने, आगजनी करने और लूटपाट को अंजाम देने में वही लोग शामिल हैं जिनका सबंध हुड्डा या कांग्रेस से है? पूरा हरियाणा इन दंगों की सच्चाई जानना चाहता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *