30.6 C
Haryana
Saturday, September 19, 2020

जाति आधारित आरक्षण रहेगा, सरकार चाहे तो आरक्षण 75% करके 50% समाजिक, 25% आर्थिक कर सकते है

Must read

Haryana में आज कोरोना के 2488 नए केस, हर जिले हाल का हाल जानिये-

Yuva Haryana News Chandigarh, 18 September, 2020 हरियाणा में आज कोरोना के 2488 नए पॉजिटिव केस सामने आए है। नीचे पढ़िए पूरा मेडिकल बुलेटिन- ...

Paytm की Google Play Store पर फिर हुई वापसी, ट्वीट के जरिए कंपनी ने दी जानकारी

Yuva Haryana News Chandigarh, 18 September, 2020 Paytm आज गायब होकर Google Play Store पर वापिस आ गया है। कंपनी ने खुद ट्वीट करके इस बात...

सावधान! बढ़ रही है देश में डिजिटल जासूसी, कहीं आप भी न हो जाएं शिकार 

Yuva Haryana News Chandigarh , 18 September, 2020 कोरोना वायरस महामारी Covid-19 के बीच हर कोई अपने घरों में कैद है। बेरोजगारी का दौर चल रहा है...

Haryana में 21 सितंबर को कृषि बिल के खिलाफ कांग्रेस का प्रदर्शन, कुमारी सैलजा करेंगी नेतृत्व

Yuva Haryana News Chandigarh, 18 September, 2020 कृषि बिल को लेकर कांग्रेस लगातार सरकार का विरोध कर रही है। साफ तौर पर कांग्रेस ने कह डाल...

रिपब्लिकन पार्टी के अध्यक्ष और केंद्रीय सामाजिक न्याय राज्यमंत्री रामदास आठवले ने यह बयान दिया है कि जब तक इस देश में जाति है, तब तक जाति आधारित आरक्षण रहेगा। किसी को भी दलित, आदिवासी और ओबीसी समाज को मिले आरक्षण को ठेस पहुंचाने की इजाजत नहीं दी जाएगी। जाति आधारित आरक्षण पर बात करने से पहले लोगों को जाति व्यवस्था खत्म करनी चाहिए। अगर कोई आरक्षण आर्थिक आधार पर बनाने की कोशिश करेगा, तो इसे सफल नहीं होने दिया जाएगा।

मनसे प्रमुख राज ठाकरे द्वारा लिए गए इंटरव्यू में राकांपा अध्यक्ष शरद पवार ने आने वाले समय में जाति के बजाय आर्थिक आधार पर आरक्षण होने की बात कही थी। अब इसको लेकर राजनीति शुरु हो गई है। आठवले ने आर्थिक आधार पर आरक्षण दिए जाने का कड़ा विरोध किया है।
आठवले ने कहा कि शरद पवार वरिष्ठ नेता हैं, कई बार वे मुद्दों पर दलित आदिवासियों का साथ दे चुके हैं। वे आधुनिक समाजवादी और धर्मनिरपेक्ष विचारों वाले नेता हैं। आठवले ने कहा आरक्षण संविधान निर्माता डॉ. बाबसाहेब भीमराव आंबेडकर द्वारा दलित, आदिवासियों को दिया गया कवच कुंडल है। इसीलिए जाति आधारित आरक्षण को हम कभी खत्म नहीं होने देंगे।

अठावले ने आरक्षण की तरकीब निकालते हुए कहा है कि आरक्षण की सीमा बढ़ाकर 75 फीसदी कर दी जानी चाहिए, जिसमें 50 फीसदी आरक्षण सामाजिक तो 25 फीसदी आरक्षण आर्थिक आधार पर दिया जाना चाहिए।
उन्होंने कहा कि दलित, आदिवासी और ओबीसी समाज का आरक्षण बरकरार रखते हुए मराठा, ब्राह्मण, लिंगायत जैसे सवर्ण समाज के गरीब लोगों को आरक्षण दिया जा सकता है।

More articles

Latest article

Haryana में आज कोरोना के 2488 नए केस, हर जिले हाल का हाल जानिये-

Yuva Haryana News Chandigarh, 18 September, 2020 हरियाणा में आज कोरोना के 2488 नए पॉजिटिव केस सामने आए है। नीचे पढ़िए पूरा मेडिकल बुलेटिन- ...

Paytm की Google Play Store पर फिर हुई वापसी, ट्वीट के जरिए कंपनी ने दी जानकारी

Yuva Haryana News Chandigarh, 18 September, 2020 Paytm आज गायब होकर Google Play Store पर वापिस आ गया है। कंपनी ने खुद ट्वीट करके इस बात...

सावधान! बढ़ रही है देश में डिजिटल जासूसी, कहीं आप भी न हो जाएं शिकार 

Yuva Haryana News Chandigarh , 18 September, 2020 कोरोना वायरस महामारी Covid-19 के बीच हर कोई अपने घरों में कैद है। बेरोजगारी का दौर चल रहा है...

Haryana में 21 सितंबर को कृषि बिल के खिलाफ कांग्रेस का प्रदर्शन, कुमारी सैलजा करेंगी नेतृत्व

Yuva Haryana News Chandigarh, 18 September, 2020 कृषि बिल को लेकर कांग्रेस लगातार सरकार का विरोध कर रही है। साफ तौर पर कांग्रेस ने कह डाल...

सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग में DIPRO का परिणाम घोषित, देखिये सूचि

Yuva Haryana News Chandigarh, 18 September, 2020 हरियाणा में DIPRO भर्ती का रिजल्ट जारी, देखिये फाइनल रिजल्ट-