कैप्टन अभिमन्यु की कोठी में आगजनी मामले में सीबीआई ने 51 लोगों के खिलाफ दाखिल की चार्जशीट

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति सरकार-प्रशासन हरियाणा

Sahab Ram, Yuva Haryana
Chandigarh, 02 July, 2018

हरियाणा में फरवरी 2016 में जाट आरक्षण आंदोलन के दौरान वित्तमंत्री कैप्टन अभिमन्यु के रोहतक स्थित घर में आगजनी मामले में सीबीआई ने चार्जशीट दाखिल कर दी है। इसमें सीबीआई ने 51 आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दायर की गई है। पंचकूला की विशेष सीबीआई अदालत में 30 जून को यह चार्जशीट सौंपी गई है।

न्यूज एंजेसी ANI के मुताबिक, 30 जून को ही सीबीआई की तरफ से चार्जशीट दाखिल की जा चुकी है। सोमवार देर शाम सीबीआई की तरफ से इस बारे में आधिकारिक प्रेसनोट नोट भी जारी कर दिया गया।

इधर पंचकूला में आज सीबीआई कोर्ट में मामले को लेकर सुनवाई हुई थी, पंचकूला में सीबीआई के बचाव पक्ष के वकील सतीश कादियान ने बताया कि इस मामले में 38 आरोपी प्रत्यक्ष और वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये पेश हुए। मामले की अगली सुनवाई 16 जुलाई को हैं।

इस मामले में हरियाणा सरकार ने जांच सीबीआई को सौंप दी थी जिसके बाद से लगातार इस मामले में जांच चल रही थी, इस मामले में कुछ आरोपियों को जमानत भी मिल चुकी है, वहीं कई जाट नेताओं के नाम उस वक्त सामने आए थे और कुछ लोगों के नाम सीसीटीवी फुटेज के आधार पर जोड़े गए थे।

 

 

बता दें कि दो साल से ज्यादा वक्त हो चुका है और अब करीब ढाई साल बाद सीबीआई की तरफ से चार्जशीट दाखिल की गई है। सीबीआई ने धारा 120बी, 124ओ, 148,149, 186, 188, 307, 353, 395, 427, 436, 450 IPC के तहत और आर्म्स एक्ट के सेक्शन 25 के तहत 51 लोगों के खिलाप पंचकुला की सीबीआई कोर्ट में स्पेशल ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट के पास चार्जशीट दाखिल की है। रोहतक अर्बन इस्टेट पुलिस स्टेशन में 27 फरवरी को दर्ज मामले को राज्य सरकार की सिफारिश पर सीबीआई ने अपने अधीन ले लिया था। 19 और 20 फरवरी 2016 को हुई आगजनी में वित्तमंत्री के निवास पर कुल 14 करोड़ रुपये के नुकसान का आंकलन है।

क्या है पूरा मामला ?

हरियाणा में साल 2016 में फरवरी माह के दौरान जाट आरक्षण आंदोलन शुरु हुआ था, इस दौरान जाट आरक्षण की मांग लेकर जसिया में धरना शुरु हुआ था, लेकिन धीरे-धीरे यह आंदोलन हिंसक हो गया था और रोहतक समेत प्रदेश के कई इलाकों में जमकर हिंसा हुई थी, इस दौरान 32 मौतें भी हुई थी, कई हजार करोड़ का नुकसान आगजनी में हुआ था।

इसी हिंसा में 19 फरवरी को रोहतक में हरियाणा के वित्तमंत्री कैप्टन अभिमन्यु के घर आगजनी हुई थी, जिस वक्त आगजनी हुई थी, उस वक्त वित्तमंत्री कैप्टन अभिमन्यु के परिजन घर पर ही मौजूद थे, लेकिन खुद वित्तमंत्री बाहर थे,  परिवार के अन्य परिजनों ने भागकर जान बचाई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *