HPSC के पूर्व अध्यक्ष बांगड़ सहित 5 अन्य सदस्यों पर लगे आरोप हुए खारिज

हरियाणा

स्थानीय अदालत ने हरियाणा लोक सेवा आयोग (HPSC) के पूर्व अध्यक्ष कृष्ण चंद्र बांगड़ पर लगे इंजीनियर भर्ती भ्रष्टाचार के आरोपों को खारिज कर दिया है।
बयाव पक्ष के वकील एसपीएस परमार ने बताया कि बांगड़ पर लगाए गए आरोप साबित नहीं हो पाए। ऐसें में उन्हें आरोपों से बरी कर दिया है।

राज्य सतर्कता ब्यूरो के अनुसार, बांगर और महेंद्र सिंह और अवतार सिंह सहित एचपीएससी के अन्य सदस्यों पर इंजीनियरों की भर्ती में भ्रष्टाचार के यह आरोप धोखाधड़ी, जालसाजी और आपराधिक साजिश और भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम के तहत दर्ज किए गए थे। लेकिन आरोप साबित न होने पर इन्हेों बरी कर दिया।

अभियोजन पक्ष के अनुसार, उन पर 29 अक्टूबर, 2004 को बांगर और पांच अन्य एचपीएससी सदस्यों पर हरियाणा प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड में ऐसे तीन व्यक्तियों की नियुक्ति देने का आरोप लगाया गया था, जिन्होंने अधिकतम आयु सीमा भी पार कर दी थी।

भूपिंदर सिंह हुड्डा की अगुवाई वाली कांग्रेस सरकार ने हरियाणा लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष ओम प्रकाश चौटाला के कार्यकाल के दौरान कृष्ण चंदर बांगर द्वारा बनाई गई कई नियुक्तियों को रद्द कर दिया था। कांग्रेस सरकार ने कई भ्रष्टाचार मामलों में बांगड़ और अन्य लोगों के खिलाफ मुकदमा दायर किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *