तीन दिन बीत जाने के बावजूद भी नहीं हुआ किसान का अंतिम संस्कार

Breaking अनहोनी चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

Charkhi Dadri, 5 August 2019

हरियाणा के चरखी दादरी में पिछले चार महीने से धरना दे रहे किसान की धरनास्थल पर ही मौत हो गई। लेकिन तीन दिन बीत जाने के बावजूद भी किसान का अंतिम संस्कार नहीं किया गया है। धरना दे रहे अन्य किसानों का कहना है कि अगर किसान को शहीद का दर्जा, मृत किसानों के आश्रितों को एक करोड़ मुआवजा व परिवार के सदस्य को नौकरी देने की मांग पूरी होने पर ही शव का अंतिम संस्कार किया जाएगा।

किसानों ने यह अल्टीमेटम दिया कि उनकी मांगें पूरी होने पर ही शव का अंतिम संस्कार किया जाएगा। प्रशासन की ओर से 5 लाख मुआवजा और डीसी रेट पर नौकरी दिए जाने के बाद भी किसान धरना खत्म करने को तैयार नहीं हुए। वहीं प्रशासन ने किसानों के अल्टीमेटम को देखते हुए चरखी दादरी स्थित लघु सचिवालय में सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए हैं।

डीसी ने तीन ड्यूटी मैजिस्ट्रेट नियुक्त करने के साथ दो डीएसपी व तीन जिलों की पुलिस यहां तैनात की है। बता दें कि ग्रीन कॉरिडोर 152डी की अधिगृहित जमीन का मुआवजा वृद्धि की मांग को लेकर यह किसान पिछले चार महीने से धरना दे रहे है। इसी धरने के दौरान एक किसान की धरनास्थल पर ही मौत हो गई। अब किसानों का कहना है कि जब उनकी मांगे पूरी होगी तभी किसान का अंतिम संस्कार किया जाएगा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *