रोज एक कदम आगे बढ़ रही चौटाला परिवार की ‘महाभारत’, दोनों तरफ से हर दिन होगा वार

Breaking Uncategorized चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा

Yuva Haryana, Chandigarh

7 अक्तूबर को गोहाना से शुरू हुई इनेलो पार्टी और चौटाला परिवार की अंदरूनी खींचतान थोड़ी और लम्बी चलने वाली है। दोनों पक्ष अपने-अपने खेमों को मजबूत करने और सुरक्षित करने पर पूरा ध्यान लगाए हुए हैं। यहां तक कि दीपावली और राम-रमी के त्योहार पर भी दोनों धड़ों ने अपनी ताकत और मजबूत करने और अपनी शक्ति का प्रदर्शन करने में वक्त लगाया।

दीपावली मनाने के अगले दिन जहां अजय सिंह चौटाला और दिग्विजय-दुष्यंत अपने सिरसा निवास पर राम-राम करने के लिए बैठे वहीं नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला तेजाखेड़ा स्थित फार्म हाऊस पर मौजूद रहे।

दोनों जगह हजारों की संख्या में लोग पहुंचे और राम-राम के साथ राजनीतिक नमस्ते भी की। काफी लोग दोनों में से एक जगह ही गए लेकिन कुछ ऐसे भी थे जिन्होंने दोनों जगह हाजिरी दर्ज़ करवाई। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार सिरसा कोठी पर पहुंचने वालों की संख्या काफी ज्यादा रही, वहीं तेजाखेड़ा फार्म हाऊस पर भी इतनी संख्या में लोग कभी नहीं पहुंचे थे जितने इस बार गए।

कुल मिलाकर इस रस्साकशी का इनेलो और चौटाला परिवार को फायदा ये हो रहा है कि उनके कार्यकर्ता पहले से ज्यादा सक्रिय हो गए हैं और कहीं ना कहीं परिवार के संपर्क का दायरा भी बढ़ रहा है।

फिलहाल दोनों पक्षों ने अगले 8-10 दिन के लिए अपने कार्यक्रम इस तरह तय किए हैं कि एक दूसरे पर दबाव भी बनाया जाए और सामने वाले की गतिविधि देखकर माकूल जवाब भी दिया जाए।

 

युवा हरियाणा को मिली जानकारी के अनुसार, एक नज़र में देखिये चौटाला परिवार के आने वाले दिनों के कार्यक्रम :

  • 9 नवम्बर -अभय सिंह चौटाला अपनी सिरसा कोठी पर पार्टी विधायकों और हलका अध्यक्षों के साथ आगामी रणनीति पर चर्चा करेंगे, जल्द ही रथ यात्रा पर निकल कर पूरे हरियाणा के भ्रमण की तैयारी।
  • 9 नवम्बर – अजय सिंह चौटाला और दुष्यंत चौटाला सिरसा, हिसार व अन्य शहरों में अपने खास कार्यकर्ताओं से मिलते हुए दिल्ली का सफर करेंगे।
  • 9 नवम्बर – दिग्विजय चौटाला फतेहाबाद-नरवाना होते हुए दिल्ली की तरफ कार्यकर्ताओं से मिलने का सिलसिला रखेंगे।
  • 10 नवम्बर – अभय सिंह चौटाला गुरुग्राम में 10 बजे सुबह जिला कार्यकर्ताओं की बैठक लेंगे।
  • 10 नवम्बर – सांसद दुष्यंत चौटाला 12 बजे चंडीगढ़ प्रेस क्लब में राजधानी की मीडिया से मिलेंगे और अपने निष्कासन पर खुलकर बात करेंगे। साथ ही पार्टी से निकालते वक्त स्पष्ट कारण ना बताए जाने पर सवाल भी उठाएंगे।
  • 11 नवम्बर – अजय सिंह चौटाला दक्षिण हरियाणा के अहीरवाल क्षेत्र का दौरा करेंगे। रेवाड़ी-महेंद्रगढ़-नारनौल में जनसम्पर्क करेंगे।
  • 11 नवम्बर – नैना चौटाला खरखौदा में चुनरी चौपाल नाम से जनसभा करेंगी।
  • 11-12 नवम्बर – दुष्यंत चौटाला विभिन्न जिलों में जनसम्पर्क जारी रखेंगे
  • 11-12 नवम्बर – अभय सिंह चौटाला गुरुग्राम-दिल्ली में रहेंगे और नेताओं-कार्यकर्ताओं से मंत्रणा करेंगे
  • 12 नवम्बर – अजय चौटाला हरियाणा के भ्रमण को जारी रखेंगे और 3-4 अन्य जिलों में जाएंगे।
  • 13 नवम्बर – नेता विपक्ष अभय चौटाला जिलों के कार्यक्रम को फिर से छेड़ेंगे और 2 जिलों के कार्यकर्ताओं की बैठक लेंगे।
  • 14 नवम्बर – अभय चौटाला कई जिलों के कार्यकर्ताओं से मिलते हुए चंडीगढ़ पहुचेंगे और एक टीवी चैनल के कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे।
  • 14 नवम्बर – दिग्विजय चौटाला चंडीगढ़ पहुंचकर पंजाब यूनिवर्सिटी के एक कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे।
  • 14-15 नवम्बर – अजय चौटाला के जिलों के कार्यक्रम जारी रहेंगे। एक दिन के लिए वे पंचकुला-चंडीगढ़ भी पहुंचेगे।
  • 16 नवम्बर – विधायक नैना चौटाला ऐलनाबाद में चुनरी चौपाल कार्यक्रम करेंगी जो कि अभय सिंह चौटाला का विधानसभा क्षेत्र है।
  • 17 नवम्बर – अजय सिंह चौटाला की अध्यक्षता में जीन्द में कार्यकर्ता सम्मेलन और जनसभा, जहां प्रदेश की राजनीति का एक बड़ा फैसला घोषित हो सकता है।

इनके अलावा भी सभी दिन चौटाला परिवार के ये पांचों प्रमुख चेहरे लोगों के बीच में ही रहेंगे और जनसम्पर्क करते रहेंगे। इन सभी कार्यक्रमों में असल प्रयास यही रहेगा कि अपने धड़े को सुरक्षित और मजबूत किया जा सके।

Four generations of Devi Lal : Devi Lal and his son sitting on chairs. In his childhood, Dushyant Chautala with his father Ajay Singh Chautala and uncle Abhay Singh Chautala.

संभावना यह भी जताई जा रही है कि 16 नवम्बर को तब तक के राजनीतिक हालात के हिसाब से इनेलो की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक भी बुलाई जा सकती है और कोई बड़ा कदम भी उठाया जा सकता है।

दिलचस्प बात यह भी है कि जहां राम-रमी के दिन चौटाला परिवार के हर सदस्य ने हजारों समर्थकों के साथ राम-राम की, वहीं अजय सिंह चौटाला और अभय सिंह के बीच ना मुलाकात हुई, ना राम-राम। हालांकि शुक्रवार को अभय सिंह ने इतना जरूर कहा कि उन्हें सुबह 10 बजे अजय सिंह से मुलाकात करनी थी लेकिन किसी जरूरी काम से अजय सिंह को कहीं जाना था इसलिए मुलाकात नहीं हो पाई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *