सीएम खट्टर ने किया बड़ा ऐलान, वो भी करेंगे अंगदान

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष
Kamarjeet Virk, Yuva Haryana
Karnal, 13 August, 2018
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने आज विश्व अंगदान दिवस के अवसर पर करनाल मेें आयोजित राज्य स्तरीय कार्यक्रम में अपने शरीर के अंगदान करने का संकल्प पत्र भरा। उल्लेखीय है कि इससे पूर्व मुख्यमंत्री नेत्रदान भी कर चुके हैं। उन्होंने इस अवसर पर इनरव्हील क्लब द्वारा आयोजित बच्चो की जागरूकता रैली को हरी झण्ड़ी दिखाकर रवाना किया। करनाल में हर साल एक हजार से भी अधिक लोग नेत्रदान करते हैं, जबकि इस अभियान की शुरूआत 2006 में मात्र 2 आंखों से हुई थी। मुख्यमंत्री ने इसके लिए करनाल के लोगों को बधाई दी।  
मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत में अंगदान की परम्परा सदियों पुरानी है, जिसकी शुरूआत महर्षि दधीच ने इंद्र के अस्त्र बज्र को बनाने के लिए अपनी देहदान कर किया था। जबकि पुराने धार्मिक ग्रंथो में भी अंगदान का उल्लेख मिलता है। 
मुख्यमंत्री ने कहा कि मानवीय दृष्टि से अंगदान एक बड़े उपकार का काम है। व्यक्ति स्वेच्छा से अपने शरीर का कोई भी अंग दान कर सकता है। जब किसी व्यक्ति की मृत्यु होती है, तो उसके परिजन भी उसकी देह को दान कर सकते हैं। अच्छे क्रियाशील अंगो को दान करने से कोई अंगदाता 8 से ज्यादा लोगों का जीवन बचा सकता है। उन्होने बताया कि देश में दुर्घटना में हर साल करीब 2 लाख लोगों की मौत हो जाती है, लेकिन यह भी सच है कि केवल 5 हजार लोगो को ही किडनी मिल पाती है, बाकि डेढ लाख लोगो की किडनी के प्रत्यारोपण ना होने से मौत हो जाती है।  
 मुख्यमंत्री ने कहा कि अंगदान दिवस व्यक्ति को एक बेहतरीन मौका प्रदान करता है कि वह आगे बढे और अपने बहुमूल्य अंगो को दान देने का संकल्प ले। आधुनिक समय मेें नई तकनीक और उपचार के विकास और वृद्घि की वजह से अंग प्रत्यारोपण की जरूरत लगातार बड़े स्तर पर बढ़ रही है, जिससे प्रतिवर्ष और अंगदान की जरूरत है और इस जरूरत को लोगो में जागरूकता के द्वारा ही पूरा किया जा सकता है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *