Home Breaking दहलीज से निकल प्रेरणास्रोत बन रही हैं हरियाणा की बेटियां, खुदी को कर रही हैं बुलंद, 4 हुई सम्मानित

दहलीज से निकल प्रेरणास्रोत बन रही हैं हरियाणा की बेटियां, खुदी को कर रही हैं बुलंद, 4 हुई सम्मानित

0
0Shares
Sahab Ram, Yuva Haryana
Chandigarh, 12 July, 2018
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने आज प्रदेश की चार बेटियों को सम्मानित किया। इन चार बेटियों ने अपने अपने क्षेत्र में बेहतरीन प्रदर्शन किया है। इन्होने सभी से हटकर कुछ अलग और खास किया है जिस वजह से आज इनको पंचकूला में मुख्यमंत्री ने सम्मानित किया।
मुख्यमंत्री ने पंकज चौधरी, गांव मैनाखेड़ा जिला सिरसा को सम्मानित किया, जो हरियाणा की प्रथम महिला बस चालक हैं। उन्होंने जीवन में संघर्षों का डट कर सामना किया और वह पिछले 11 वर्षों से स्कूल बस चला रही हैं। 
इसी प्रकार, जिला फरीदाबाद के गांव दौंच की सरपंच नजमा खान को समाज व गांव के कल्याण के लिए महत्वपूर्ण कार्य करने के लिए सम्मानित किया गया है। उन्होंने गांव में 200 लड़कियों को टेलरिंग में प्रशिक्षण प्रदान करके उन्हें रोजगार के योग्य बनाया। दौंच एक पिछड़ा गांव हैं, जहां पर्दा प्रथा प्रचलित है। उन्होंने गांव लड़कियों को उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए प्रेरित किया। इस समय लगभग 100 लड़कियां उच्च शिक्षा प्राप्त कर रही है। सरपंच नजमा खान ने कहा कि हरियाणा में मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल के नेतृत्व में  ऐसी पहली सरकार है, जिसने महिलाओं को प्रेरित किया है और उन्हें यहां बुलाकर सम्मानित किया है। उन्होंने कहा कि इससे पूर्व किसी भी सरकार ने महिलाओं को सम्मानित नहीं किया। इस सम्मान से महिलाओं में एक नये उत्साह का संचार हुआ है।
इसके अतिरिक्त, जिला झज्जर के गांव बधाना निवासी कविता शर्मा को समाज कल्याण के कार्यों के लिए सम्मानित किया गया। कविता शर्मा पांच महिलाओं के साथ मिलकर सेनेटरी नैपकिन बनाती हैं और इन नैपकिन को स्कूलों में लड़कियों को निशुल्क बांटती हैं। लड़कियों के लिए यह एक महत्वपूर्ण मुद्दा है।
जिला महेन्द्रगढ़ की मंजू कौशिक लडक़ी के जन्म पर कुंआ पूजन के लिए महिलाओं को प्रेरित करने के लिए सम्मानित किया गया। उन्होंने अब तक 600-700 घरों में लड़कियों के जन्म पर कुंआ पूजन करवाया है। वह लड़कियों के प्रति सामाजिक सोच बदलने में अहम भूमिका निभा रही हैं। वह पिछले 20 वर्षों से समाज सेवा के कार्य में लगी हुई हैं। इससे पूर्व भी वह नेशनल यूथ और लक्ष्मीबाई पुरस्कार से सम्मानित हो चुकी हैं।
Load More Related Articles
Load More By Yuva Haryana
Load More In Breaking

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

करोड़ों कर्मचारियों के लिए बड़ी राहत, EPF खाते से 72 घंटे में निकाल सकते हैं पैसे

Yuva Haryana, Chandigarh कोरोना वाय&…