बच्चों की बस को पहाड़ पर चढ़ने से रोका तो बैठे गए धरने पर

Breaking बड़ी ख़बरें हरियाणा

Yuva Haryana

Chandigarh

पंचकूला के आशियाना आश्रम से 34 बच्चे और तीन महिला टीचर्स मल्ला रामगढ़ में अरविंदो आश्रम में आयोजित एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने जा रहे थे। बच्चे सुबह 8.30 बजे जैसे ही काठगोदाम पहुंचे तो वहां RTO की चेक पोस्ट पर तैनात कर्मियों ने बस को रोक लिया।

बस 42 सीटर थी और इसी बात को टिचर्स की वहां मौजूद कर्मियों के साथ बहस हो गई। कर्मचारियों ने हाईकोर्ट के निर्देश का हवाला दिया कि 30 से अधिक सीट वाली पर्यटक बसों को काठगोदाम से आगे पहाड़ पर ले जाने पर पाबंदी है। लेकिन इस बात पर बच्चे भड़क गए।

बच्चे सड़क किनारे ही धूप में बैठ गए और धरना देने लगे। इसके बाद परिवहन कर अधिकारी असित झा मौके पर पहुंचे और उनके समझाने के बाद ही सभी को केमू की बस से रवाना किया गया।

बता दें कि पर्यटक सीजन के दौरान यातायात व्यवस्था देखते हुए जिला प्रशासन ने तराई भाबर से नैनीताल व भीमताल की ओर जाने वाली बड़ी टूरिस्ट बसों पर रोक तो लगा दी लेकिन इन बसों से उतरने वाले सैलानियों को उनकी मंजिल तक पहुंचाने के कोई इंतजाम नहीं किए। जिला प्रशासन ने नैनीताल में पार्किंग की दिक्कत को देखते हुए काठगोदाम से ऊपर की ओर जाने वाली 30 सीट से अधिक क्षमता वाली टूरिस्ट बसों को प्रतिबंधित किया हुआ है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *