डॉक्टरों की लापरवाही से 12 महीने की मासूम की मौत

अनहोनी हरियाणा

Yuva Haryana

Ambala 21 March, 2018

एक तरफ सरकार पूरी कोशिश कर रही है कि बेटियों को बचाया जाए और उनकी संख्या बढ़ाई जाए, तो दूसरी तरफ स्वास्थ्य कर्मचारी भी ऐसे लापरवाह हो रहे हैं कि बेटियों को अपनी जान गवानी पढ़ रही है।

अंबाला में एक सरकारी अस्पताल की बड़ी लापरवाही से 12 महीने की बच्ची की जान चली गई।

परिजनों ने बताया कि बच्ची को निमोनिया हो गया था। इसलिए उसे अस्पताल में भर्ती करवाया था। लेकिन नर्स ने सही तरीके से टीका नहीं लगाया।

परिजनों ने डॉक्टर और नर्स को बच्ची को दोबारा टीका और दवाई देने को कहा तो किसी ने उनकी एक न सुनी। जिसके बाद बच्ची की मौत हो गई।

बच्ची की मां ने आरोप लगाते हुए कहा कि सुबह भी बच्ची की तबियत खराब थी। उन्होंने डॉक्टर को दवा देने को बोला था, लेकिन डॉक्टर ने उन्हें ये कह कर टाल दिया कि अस्पताल की डिस्पेंसंरी में दवा नहीं है। दवा लानी है तो बाहर से ले आओ।

इस पूरे मामले में ड्यूटी पर तैनात सरकारी अस्पताल के एक अन्य डॉक्टर ने बताया कि बच्ची को 3-4 दिन पहले अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। उसकी तबियत बिगड़ने पर उसको एमरजेंसी वार्ड में शिफ्ट किया गया था।

उसको अस्पताल की तरफ से पूरा इलाज दिया जा रहा था। लेकिन दोपहर के समय बच्ची की तबियत ज्यादा खराब होने पर उसको ऑक्सीजन दी गई।

एम्बुलेंस बुलाकर उसको रेफर कर दिया गया लेकिन बच्ची ने उसी वक्त दम तोड़ दिया।

डॉक्टर ने बच्ची के परिजनों द्वारा लगाए गए सभी आरोपों को नकारते हुए कहा कि इसमें इलाज करने वाले डाक्टर और स्टाफ की कोई गलती नहीं है।

वहीं परिजनों ने डॉक्टर और अस्पताल स्टाफ के खिलाफ केस दर्ज करने की अपील की है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *