गेहूं की खरीद ना होने के कारण व्यापारियों हिसार अनाजमंडी को किया बंद

Breaking बड़ी ख़बरें हरियाणा

हिसार की अनाज मंडी में सरकारी एजेंसियों द्वारा गेहूं की खरीद ना होने को लेकर व्यापारियों ने मंडी बंद रखी। व्यापारियों ने हैफेड विभाग द्वारा गेहूं की सरकारी खरीद बन्द करने के विरोध में भारी नाराजगी जताई। इसी दौरान बजंरग दास गर्ग ने प्रैस वार्ता में बताया कि हरियाणा की मंडियों में लाखों क्विंटल गेहूँ किसान की पड़ी है। अगर सरकारी गेहूँ एंजेसियों ने किसान की गेहूं का एक.एक दाना नहीं खरीदा तो हरियाणा की मंडी बन्द कर दी जाएगी।

बता दें कि गेहूं की सरकारी खरीद की अवधि 15 मई 2018 तक हरियाणा सरकार द्वारा निश्चित की गई है। मगर सरकार ने अपनी घोषणा के विपरित आज हैफेड की सरकारी एजेंसी द्वारा गेहूं खरीद बन्द करने के आदेश से किसान व आढ़तियों में बड़ी भारी नाराजगी है।

सरकार को अपनी घोषणा के अनुसार किसान की गेहूं खरीद करनी चाहिए। जबकि सरकारी अधिकारियों की लापरवाही के कारण आज प्रदेश का किसान व आढ़ती लूट और पीट रहा है। जबकि गेहूं की खरीद व उसका उठान व भुगतान समय पर ना होने के कारण किसानों को बड़ा भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है।

वहीं आंधी, बारिस होने के कारण किसान की करोड़ों रुपये की गेहूं और सरसों की फसल खराब हो चुकी है और किसान की बची हुई गेहूं की खरीद सरकार द्वारा नहीं की गई तो लाखों क्विंटल गेहूं जो मंडियों में पड़ा है वह मौसम खराब होने के कारण बारिस में खराब होने की पूरी-पूरी सम्भावना बनी हुई है। गर्ग ने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर सरकार उनकी मांगे नही मानती तो व्यापारियों द्वारा आंदोलन किया जाएगा।

Read This story

चीनी की कीमत गिरने से किसानों की चिंताएं बढ़ी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *