रोहतक ऐलीवेटिड की तर्ज पर कैथल में पुल बनाने की मांग, सीएम ने केंद्रीय मंत्री को लिखा पत्र

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष
Sahab Ram, Yuva Haryana
Chandigarh, 29 Nov, 2018
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने केंद्रीय रेल मंत्री पीयुष गोयल से आग्रह किया है कि रोहतक में बनाए गए ऐलीवेटिड रेलवे ट्रैक की तर्ज पर कैथल में नरवाना-कुरूक्षेत्र रेलवे लाईन पर तीन रेलवे ओवर ब्रिज (आरओबी) या रेलवे अंडर ब्रिज (आरयूबी) के निर्माण की बजाय ऐलीवेटिंग रेलवे ट्रैक के निर्माण पर विचार किया जाए। रोहतक में भारत के पहले ऐलीवेटिड रेल ट्रैक की वजह से रेलवे और हरियाणा सरकार ने महत्वपूर्ण साख अर्जित की है और इस परियोजना की तर्ज पर प्रदेश के अन्य स्थानों पर भी ऐसे प्रोजैक्ट लगाने हेतू राज्य सरकार को अनुरोध प्राप्त हुए है। 
 केंद्रीय रेल मंत्री को लिखे एक पत्र में मनोहर लाल ने कहा है कि तीन महत्वपूर्ण सडक़ों नामत: कैथल-करनाल राज्य राजमार्ग संख्या-8, कैथल शहर के आसपास सर्कुलर रोड, कैथल और कैथल में थानेसर-ढांड-कैथल रोड  पर नरवाना-कुरुक्षेत्र रेलवे लाइन क्रमश: आरडी 38/4/5 (एलसी 33), आरडी 39/4/5 (एलसी 34बी) और आरडी 40/1/2 (एलसी 34ए) है। ये सभी क्रॉसिंग आरओबी / आरयूबी के निर्माण के लिए अर्हता प्राप्त करते हैं।
मुख्यमंत्री ने केन्द्रीय रेल मंत्री को आश्वासन देते हुए कहा कि इस परियेाजना की लागत का 50 प्रतिशत खर्च राज्य सरकार द्वारा वहन किया जाएगा। 
उन्होंने कहा कि चूंकि इन स्थानों के क्रॉसिंग पर बड़े सरकारी कार्यालयों, निजी प्रतिष्ठानों और बस स्टैंड के नजदीक स्थित होने के कारण तथा पर्याप्त यातायात के साथ इन आरओबी का निर्माण संभव नहीं होगा क्योंकि यहां पर भूमि अधिग्रहण में कठिनाइयां उत्पन्न होंगी। उन्होंने बताया कि इसलिए इन तीन आरओबी / आरयूबी के निर्माण की बजाय ऐलीवेटिड रेलवे ट्रैक का निर्माण करना आर्थिक रुप से महत्व होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *