शहीद के घर पहुंचे मुख्यमंत्री, परिजनों को दिया हरसंभव मदद का भरोसा

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष
Yuva Haryana
Chandigarh, 21 Feb, 2019
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने आज गांव अटाली, जिला  फरीदाबाद मे पहुंचकर शहीद नायक संदीप कुमार को श्रद्धांजलि दी और परिजनों को ढांढस बंधाकर उन्हें हरसंभव मदद देने का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि देश की सुरक्षा के लिए शहीद होकर संदीप कुमार ने न केवल अपने गांव व जिला बल्कि प्रदेश का भी गौरव बढ़ाया है। संदीप कुमार ने श्रीनगर में सर्च अभियान के दौरान आतंकवादियों के साथ निडरता से लड़ाई लडकऱ एक मिसाल कायम की है। पूरा देश उनकी शहादत को नमन करता है।

मुख्यमंत्री ने संदीप कुमार के पिता नैनपाल सिंह व उसके परिजनों को ढांढस बंधाते हुए कहा कि हरियाणा सरकार की तरफ  से 50 लाख रुपये की अनुग्रह राशि उनके खाते में डलवा दी गई है। साथ ही सरकार की तरफ  से परिवार की इच्छा के अनुसार एक सदस्य को अनुकंपा के आधार पर सरकारी नौकरी भी जल्द ही दी जाएगी। यह शहीद का हक है। मुख्यमंत्री ने कहा कि इसके अलावा केंद्र सरकार की तरफ से भी अलग से सुविधाएं परिजनों को दी जाएंगी। ग्रामीणों की मांग पर गांव अटाली के राजकीय स्कूल का नाम शहीद संदीप कुमार के नाम पर रखा जाएगा तथा गांव दयालपुर-अटली मार्ग का नाम भी शहीद संदीप कुमार के नाम रखा जाएगा।
Haryana Chief Minister, Manohar Lal consoling family members of martyr Hari Singh, who attained martyrdom during recent encounter at Pulwama in Jammu and Kashmir, at his native village Rajgarh in district Rewari on February 21, 2019.
उन्होंने कहा कि देश सेवा के लिए अपने प्राणों की आहुति देकर संदीप ने अपने परिवार व प्रदेश का मान-सम्मान बढ़ाया है। उन्होंने कहा कि संदीप की कुर्बानी पर हम सभी को गर्व है। आतंकवादियों के साथ हुई मुठभेड़ में गोलियां लगने से वे घायल हो गए थे, जिसे आर्मी बेस अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उन्होंने 19 फरवरी को अंतिम सांस ली थी। उन्होंने कहा कि संदीप कुमार की बहादुरी युवाओं के लिए प्ररेणास्रोत रहेगी।
उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार शहीदों के परिवारजनों को हरसंभव मदद उपलब्ध करवा रही है। रेवाड़ी जिला के राजगढ़ निवासी हरि सिंह ने भी देश सेवा के लिए अपने प्राण न्यौछावर कर एक मिसाल कायम की है। शहीदों की इन कुर्बानियां से इस देश की जनता सदैव उनकी ऋणी रहेगी।
मुख्यमंत्री मनोहरलाल शहीद संदीप सिंह की धर्मपत्नी गीता देवी, माता केसर देवी, पिता नैनपाल, बहन उर्मीला व निर्मला, छोटा भाई सोनू और बेटी लवन्या, बेटा रक्षित व राशित से भी मिले।
शहीद हरि सिंह की शहादत पर संवेदना जताते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि हरियाणा के रणबांकुरों ने जरूरत पडऩे पर हमेशा देश की माटी के लिए बड़ी से बड़ी कुर्बानी दी है और हम इस पर गर्व करते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि जिस वीरता के साथ भारतीय सैनिक देश के दुश्मनों का सामना कर रहे हैं, उसी भावना के साथ पूरा देश सैनिकों के इस जज्बे को सलाम कर रहा है। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार शहीद परिवार के साथ खड़ी है। 
 
गौरतलब है कि श्रीनगर के पुलवामा पिगलीना नामक स्थान पर सेना ने कोरडन और आपरेशन चलाया जिसमें 55-आरआर बटालियन के एक अधिकारी और तीन जवान शहीद हो गये, जिसमें सिपाही हरि सिंह पुत्र अगडी सिंह निवासी राजगढ़ जिला रेवाड़ी के बहादुर सिपाही ने वीरता से लड़ते हुए अपने प्राणो की आहुति दी। 
शहीद हरी सिंह के परिवार में माता पिस्ता देवी, पत्नी राधा बाई व 10 माह का बेटा लक्ष है। मुख्यमंत्री शहीद हरी सिंह के परिवार से मिलें तथा अपनी सवेंदना व्यक्त की। इस मौके पर  शहीद परिवार को 50 लाख की सहायता राशि प्रदान की जा चुकी है, जिसमें साढे 17 लाख रुपये शहीद की पत्नी, साढ़े 17 लाख रुपये उनके पुत्र व 15 लाख रुपये शहीद की मां के खाते में आरटीजीएस द्वारा डाल दिये गये है। वहीं शहीद की वीरांगना को नौकरी देने का भी वादा किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *