शहीद के घर अचानक पहुंचे मुख्यमंत्री, शहीद की पत्नी को सरकारी नौकरी का आश्वासन दिया

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Anil Kumar, Yuva Haryana
Brada, 16 August, 2018

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने अंबाला के गांव तेपला में शहीद लांस नायक विक्रमजीत सिंह के नाम पर तेपला गांव से साहा तक शहीद विक्रमजीत के नाम पर मार्ग के निर्माण की घोषणा की और मौके पर ही उपायुक्त को इस मार्ग के निर्माण के लिए अनुमानित खर्च तैयार करने के निर्देश दिए। उन्होंने परिजनों को आश्वासन दिया कि शहीद की पत्नी हरप्रीत कौर को उनकी शैक्षणिक योग्यता के मुताबिक सरकारी नौकरी दी जाएगी।

मुख्यमंत्री ने शहीद लांस नायक विक्रमजीत सिंह के परिजनो को संात्वना दी और शहीद की कुर्बानी को नमन किया। उन्होंने शहीद के चित्र पर पुष्पांजलि भेंट करने के साथ-साथ शहीद के आवास पर रखे गए पाठ में गुरू ग्रंथ साहिब के समक्ष भी शीश झुकाया। उन्होंने शहीद के पिता बलजिन्द्र सिंह, माता कमलेश कौर और भाई मोनू सिंह को सांत्वना देेते हुए कहा कि विक्रमजीत सिंह की शहादत पर हरियाणा ही नही बल्कि पूरे देश को गर्व है।

उन्होंने कहा कि ऐसे भारत मां के महान सपूतों की कुर्बानियों की बदौलत ही देश की आजादी बरकरार है और शांति के वातावरण में देश उन्नति कर रहा है। उन्होंने कहा कि शहीद विक्रमजीत सिंह की शहादत से आने वाली पीढिय़ां युगों तक प्रेरणा लेती रहेंगी।

मुख्यमंत्री तेपला गांव से काफी प्रभावित हुए क्योंकि इस गांव के प्रत्येक घर से एक या दो युवा सेना में तैनात हैं और इस समय 250 से अधिक सैनिक देश की सीमाओं की सुरक्षा कर रहे हैं। गांव की महिला सरपंच श्रीमती सुमनीत कौर और उनके पति इन्द्रजीत सिंह ने शहीद के अंतिम संस्कार से पूर्व ही हरियाणा सरकार द्वारा परिवार को 50 लाख रुपए की आर्थिक मदद उपलब्ध करवाने के लिए आभार व्यक्त किया और दुख की इस घड़ी में सरकार व प्रशासन द्वारा परिवार को दिए जा रहे अभूतपूर्व सहयोग व सम्मान के लिए भी आभार व्यक्त किया।

उन्होंने बताया कि कारगिल से लेकर अब तक इस गांव के चौथे सैनिक शहीद हुए हैं और विक्रमजीत सिंह से पूर्व मेजर गुरप्रीत सिंह, हरजिन्द्र सिंह और विनोद सिंह देश की सीमाओं की सुरक्षा के लिए अपनी शहादत दे चुके हैं।

 

ये भी पढ़िये >>