Home Breaking Haryana में हर विधानसभा में बनेगी सड़कें, महेंद्रगढ़ के लिए करोड़ों की सौगात

Haryana में हर विधानसभा में बनेगी सड़कें, महेंद्रगढ़ के लिए करोड़ों की सौगात

0
0Shares

Yuva Haryana, Chandigarh

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि प्रदेश की सडक़ों के सुदृढ़ीकरण की दिशा में स्थाई समाधान सुनिश्चित करते हुए अब 6 करम या इससे अधिक चौड़ाई की सडक़ों का निर्माण लोक निर्माण विभाग (भवन एवं सडक़ें) के माध्यम से करवाया जाएगा। साथ ही 6 करम से नीचे की सडक़ें जो गांव को गांव से व गांव को मंडी से जोड़ती हैं, उनका निर्माण हर विधानसभा क्षेत्र में प्रति साल 50 किलोमीटर प्रति विधानसभा क्षेत्र में मार्केटिंग बोर्ड की ओर से होगा।

मुख्यमंत्री ने यह घोषणा आज महेंद्रगढ़ जिला के गांव दौंगड़ा अहीर में आयोजित प्रगति रैली में की। रैली में पहुंचने पर स्थानीय नेताओं द्वारा मुख्यमंत्री का पगड़ी बांधकर अभिनंदन किया गया। मुख्यमंत्री ने जनसभा स्थल से ही महेंद्रगढ़ जिला के लिए 63.86 करोड़ रूपए की विकास योजनाओं व परियोजनाओं का उदघाटन व शिलान्यास किया। उन्होंने जिला के चारों विधानसभा क्षेत्रों के ग्रामीण विकास के लिए दस-दस करोड़ रूपए की राशि देने की भी घोषणा की।

जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि उन्हें खुशी है कि आज वे दौंगड़ा अहीर गांव की भूमि से अपनी दूसरी पारी में लोगों से सीधा जुड़ रहे हैं। उन्होंने उपस्थित जनसमूह को विश्वास दिलाया कि प्रदेश की जनभावनाओं के अनुरूप वे निरंतर जनसेवा को समर्पित होकर विकास कार्य करवाने में अपनी भूमिका निभाते रहेंगे। सडक़ निर्माण से संबंधित रखी गई मांगों पर मुख्यमंत्री ने मंच से घोषणा की कि सडक़ तंत्र की मजबूतीकरण की दिशा में स्थाई कदम उठाए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि 6 करम की सडक़ों का निर्माण कार्य जहां प्रदेश भर में लोक निर्माण विभाग द्वारा कराया जाएगा वहीं 5 करम तक की सडक़ों का निर्माण हर साल प्रति विधानसभा क्षेत्र 50 किलोमीटर तक तथा 3 व 4 करम के रास्तों को खडंजे(टाइलों)से बनाया जाएगा जोकि हर साल हर विधानसभा क्षेत्र में 25 किलोमीटर तक की मार्केटिंग बोर्ड से बनाई जाएंगी। उन्होंने कहा कि सडक़ों का जुड़ाव विकास का प्रतीक है और प्रदेश में बेहतर आवागमन सुविधा के लिए वे आज ये घोषणा कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि राज्य का महेंद्रगढ़ जिला 2014 से पहले तक पूर्व सरकारों के कार्यकाल में अनदेखा रहा है, लेकिन जब से उन्होंने साल 2014 में हरियाणा के सेवक के रूप में जिम्मेवारी ली है उसके उपरंात किसानों की खुशहाली के लिए सबसे पहले कदम उठाए और बेहतर ढंग से सिंचाई प्रणाली को सुदृढ़ किया गया। उन्होंने बताया कि नहरों व माइनर के माध्यम से अंतिम छोर तक पानी पहुंचाने के लिए प्रयास किए गए हैं। इस जिला में नहरी पानी का और अधिक योजनाबद्ध तरीके से पहुंचाने के लिए उन्होंने भिवानी-महेंद्रगढ़ के सांसद चै. धर्मवीर सिंह व नांगल चैधरी से विधायक डा.अभय सिंह यादव सहित पांच सदस्यीय कमेटी द्वारा पूरी रूपरेखा तैयार कर रिपोर्ट देने को कहा ताकि उनके सुझावों के अनुरूप धरातल पर कार्य करते हुए सिंचाई का स्थाई समाधान निकाला जा सके।

जनसभा में उमड़े जनसमूह का अभिवादन स्वीकार करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार की ओर से लागू की जा रही महत्वाकांक्षी योजनाओं का पूरा लाभ उठाया जाए। आयुष्मान भारत योजना, मुख्यमंत्री परिवार समृद्धि जैसी अनेक योजनाएं जरूरतमंद लोगों के लिए वरदान हैं, ऐसे में अधिक से अधिक पात्र व्यक्तियों को इन योजनाओं से जुडना चाहिए। उन्होंने महेंद्रगढ़ जिला द्वारा मेरी फसल-मेरा ब्यौरा पोर्टल पर सबसे अधिक पंजीकरण कराने पर जिला के किसानों की सराहना की।   उन्होंने कहा कि इलाके की खुशहाली में सरकार के साथ ही किसानों का सहयोग बेहद जरूरी है। उन्होंने हरियाणा सरकार की विकासात्मक गतिविधियों के बारे में बताया कि जनसेवा के साथ सरकार की ओर से योजनाओं को मूर्त रूप दिया जा रहा है। हर घर में जल पहुंचाने का लक्ष्य सामने रखते हुए सरकार आगे बढ़ रही है। मुख्यमंत्री का कार्यक्रम में पहुंचने पर विभिन्न सामाजिक संगठनों द्वारा अभिनंदन किया गया। मुख्यमंत्री ने पूर्व विधायक राधेश्याम शर्मा द्वारा लिखित पुस्तक मानवता के आदर्श-श्रीराम का विमोचन भी किया।

        जनसभा को संबोधित करते हुए पूर्व शिक्षा मंत्री प्रो.रामबिलास शर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री ने दूसरी पारी की शुरूआत में दौंगड़ा अहीर में जनसभा रखकर इस इलाके का सम्मान किया है। यहां के लोगों के दिल साफ है। ये वीरों का इलाका है। मुख्यमंत्री के सामने जो भी मांगें रखते हैं वे हमेशा उसे पूरा करते हैं। उन्होंने कहा कि पिछले पांच साल में जिले में अभूतपूर्व विकास हुए हैं। माधोगढ़ के किला को पर्यटक क्षेत्र के तौर पर विकसित किया जा रहा है। खुडाना में आईएमटी की स्थापना का शिलान्यास हो चुका है।

        सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ओमप्रकाश यादव ने कहा कि यह इस इलाके के लिए गर्व की बात है कि दूसरी सरकार में पहला बड़ा कार्यक्रम इस जिले में हुआ है। मुख्यमंत्री का इस जिले से विशेष लगाव है। उन्होंने कहा कि सरकार की नीति व नीयत साफ है। यहीं कारण है कि पिछले पांच साल में हर जगह समान विकास हुआ है।

        मुख्यमंत्री मनोहर लाल का दौंगड़ा अहीर में आयोजित प्रगति रैली में आने पर स्वागत करते हुए अटेली के विधायक सीताराम यादव ने कहा कि पिछले पांच साल में मुख्यमंत्री ने प्रदेश का समान विकास करवाया है। आने वाले पांच साल में यह इलाका विकास की नई ऊंचाइयों को छूएगा। मुख्यमंत्री ने प्रदेश के लोगों की भलाई के लिए काम किया है। यहां उमड़ी यह भीड़ मुख्यमंत्री की लोकप्रियता को साबित करती है। उन्होंने मुख्यमंत्री को विश्वास दिलाया कि दक्षिणी हरियाणा की यह जनता निरंतर विकास में सहभागी बनेगी।

        नांगल चैधरी के विधायक डा. अभय सिंह यादव ने कहा कि पिछले पांच साल में जो भी मांगें मुख्यमंत्री के सामने रखी गई हैं उन सबको पूरा किया गया है। उन्होंने कहा कि महेंद्रगढ़ जिला को विकास की मुख्य धारा से जोडने का काम मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने किया है। उन्होंने कहा कि सरकार ने अंतिम छोर पर पानी पहुंचाकर असंभव को संभव कर दिखाया है। इस जिले में सरकार ने ढांचागत सुविधाएं मुहैया करवाने का काम किया है। जिले में राष्टड्ढ्रीय राजमार्गों के निर्माण का काम चल रहा है। लोजिस्टिक हब जैसी परियोजनाएं तैयार होते ही यहां पर उद्योगों का विकास होगा।

इन परियोजनाओं का किया उदघाटन

गांव दौंगड़ा अहीर में आयोजित कार्यक्रम स्थल से मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने लगभग 3.91 करोड़ रुपए की लागत से तैयार नारनौल में सिंचाई भवन, 3.84 करोड़ रुपए की लागत से तैयार सेहलंग पीएचसी से सीएचसी में अपग्रेड हुए भवन तथा दौंगड़ा अहीर में 35 लाख रुपए की लागत से तैयार राजकीय पशु चिकित्सालय भवन का उद्घाटन किया।

इन परियोजनाओं का किया शिलान्यास

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने सभा स्थल से ही तीन परियोजनाओं का शिलान्यास भी किया। उन्होंने नारनौल नागरिक अस्पताल में लगभग 45.10 करोड़ रुपए की लागत से तैयार होने वाले 100 बैड से बढ़ाकर 200 बैड भवन, दौंगड़ा अहीर गांव में 3.95 करोड़ रुपए की लागत से बनने वाले आवासीय परिसर के साथ पीएचसी, बाबा खेतानाथ राजकीय पॉलिटेक्निकल में 6.71 करोड़ रुपए की लागत से बनने वाले नए शिक्षण भवन का शिलान्यास किया गया।

        इसके अलावा उन्होंने दौंगड़ा अहीर के नागरिकों की उप तहसील की मांग पर कहा कि इसके लिए सरकार ने रि-आर्गेनाइजेशन कमेटी का गठन किया है। इस कमेटी की सकारात्मक रिपोर्ट आते ही तथा सभी प्रकार के नार्म पूरे होते ही यह मांग पूरी कर दी जाएगी।

Load More Related Articles
Load More By Yuva Haryana
Load More In Breaking

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

अंबाला सेंट्रल जेल में महिला कैदी की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव, बेटी की शादी में गई थी बराड़ा

Yuva Haryana, Ambala अंबाला शहर …