पंचकूला में सीएम ने खोला सौगातों का पिटारा, 234 करोड़ की नई परियोजनाओं की घोषणा की

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष
Umang Sheoran, Yuva Haryana
Panchkula, 23 Oct, 2018
पंचकूला के विकास में आज एक और अध्याय जुड़ गया जब मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने 85.03 करोड़ रुपये की लागत से 9 परियोजनाओं का उद्घाटन व शिलान्यास करने के साथ-साथ पंचकूला जिले के लिए 234 करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं की नई घोषणाएं की। सीएम आज सेक्टर-3 स्थित ताऊ देवी लाल खेल परिसर में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यातिथि के रूप में बोल रहे थे।
सीएम मनोहर लाल ने कहा कि जिन आशाओं व अपेक्षाओं से लोगों ने चार वर्ष पूर्व भाजपा को पूर्ण बहुमत से सत्ता सौंपी थी, उन्होंने चार वर्षों में सूचना प्रोद्यौगिकी का अधिक से अधिक प्रयोग कर राजकाज करने के तौर-तरीकों को बदला है और भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाया है। उन्होंने कहा कि हालांकि भ्रष्टाचार पर पूर्ण लगाम लगाना एक चुनौती है परंतु जन जागरण के माध्यम से जनता के सहयोग से हम इस पर पूर्णत: अंकुश लगा सकते हैं। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार को रोकने के लिए वे सख्त से सख्त कार्रवाई करने से पीछे नहीं हटेंगे।

पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा पर कटाक्ष करते हुए मनोहर लाल ने कहा कि वे लोक लुभावनी घोषणाएं कर जनता को गुमराह करने में माहिर थे। उन्होंने पहली नवंबर, 2013 की गोहाना रैली में इतनी घोषणाएं कर दी थी कि अधिकारी भी पीछे हटकर कहने लगे की इतना तो बजट ही नहीं है। मुख्यमंत्री ने कहा कि वे केवल वहीं घोषणाएं करते हैं, जिन्हें पूरा करना संभव है। उन्होंने कहा कि हमने पिछले चार वर्षों में 6800 घोषणाएं की हैं, जिनमें से 60 प्रतिशत से अधिक पूरी हो चुकी है या पूरी होने वाली हैं। अगले एक वर्ष में सभी घोषणाएं पूरी कर ली जाएंगी। उन्होंने कहा कि वर्ष 2014 के चुनावी घोषणा पत्र में  पार्टी ने 176 चुनावी वायदे किये थे, जिनमें से 161 पूरे हो चुके हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि विकास कार्यों के लिए सरकार के पास पर्याप्त फण्ड उपलब्ध है। वर्ष 2014 में प्रदेश का बजट लगभग 61 हजार करोड़ रुपये का था, जो वर्ष 2018-19 में एक लाख 15 हजार करोड़ रुपये से अधिक हो गया है। मनोहर लाल ने कहा कि उन्होंने पिछले चार वर्षों में हर विधानसभा क्षेत्र का दौरा कर वहां की मांग के अनुरूप कम से कम 700 से एक हजार करोड़ रुपये के  विकास कार्यों की घोषणाएं की हंै। उन्होंने कहा कि जनता के सहयोग से हरियाणा को ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’, स्वच्छता सर्वेक्षण-2018 तथा डिजिटिलाइजेशन में कई राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त हुए हैं।

उन्होंने कहा कि तालाबों के पानी का उपयोग सिंचाई व अन्य कार्यों में करने के लिए हरियाणा तालाब प्राधिकरण का गठन किया गया है, जिसके तहत प्रदेश के 14 हजार तालाबों के पानी को उपचारित कर अन्य कार्यों के लिए उपयोग किया जायेगा। उन्होंने लोगों से आह्वान किया कि हमें आने वाली पीढिय़ों को ध्यान में रख कर कार्य करना चाहिए। उन्हें अच्छे संस्कारों के साथ-साथ स्वच्छता, पर्यावरण जैसे कार्यों से जोडऩा चाहिए। वन महोत्सव के अवसर पर छठी से बारहवीं कक्षा तक के विद्यार्थियों के लिए पौधगिरी कार्यक्रम के तहत 21 लाख पौधे लगाने का लक्ष्य रखा था जबकि 30 सितंबर तक बच्चों द्वारा 24 लाख पौधे लगाये गये।
मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने सभी विधायकों को अपने-अपने विधानसभा क्षेत्र का विजन डाक्यूमेंट तैयार करने को कहा है। उन्हें खुशी है विधायक ज्ञानचंद गुप्ता ने पंचकूला विधानसभा क्षेत्र का विजन डाक्यूमेंट तैयार किया है। उन्होंने कहा कि जिला मुख्यालय होने के नाते पंचकूला में कुछ बड़ी योजनाएं भी आना स्वभाविक है। मुख्यमंत्री ने कालका की विधायक लतिका शर्मा से भी विजन डाक्यूमेंट तैयार करने को कहा। उन्होंने कहा कि कालका के लिए भी आज कुछ घोषणाएं अलग से की जा रही हैं जो आज की 234 करोड़ की घोषणाओं में शामिल हैं। कालका विधानसभा क्षेत्र के लिए 176 करोड़ तथा पंचकूला के लिए 58 करोड़ रूपए की घोषणाएं शामिल हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि पंचकूला के लिए 2000 करोड़ रूपए तथा कालका के लिए 700 करोड़ की विकास परियोजनाओं पर कार्य या तो पूरा हो चुका है या चल रहा है। इसके अलावा, आज 234 करोड़ रूपए की और घोषणाएं की गई हैं। उन्होंने विधायक ज्ञानचंद गुप्ता की मांग पर आशियाना फ्लैटस के लिए 5 करोड़ रूपए, ओल्ड एज होम विस्तारीकरण के लिए 10 करोड़, जिला स्तरीय डिजीटल लाईब्रेरी के लिए 8 करोड़ रूपए, सेक्टर 5 मनसा देवी काम्पलेक्स में गंदे नाले को ढंकने के लिए 10 करोड़ रूपए उपलब्ध करवाने की घोषणा भी की। इसके अलावा उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों में 35 करोड़ रूपए के विकास कार्यों की भी घोषणा की जिसमें खटौली से अलीपुर तक नदी पर हाई लेवल ब्रिज, रत्तेवाली में पीएचसी, बतोड़ से मौली सडक़, नयागांव से नटवाल, सुंदरपुर से रामपुर, टिब्बी से बूंगा, बनावल से रसीदपुर, बिल्ला से जसवंतगढ़, छोटी चोकी से बड़ी चोकी, खंगेसरा से जसवंतगढ की सडक़ें शामिल हैं।
मुख्यमंत्री ने विधायक लतिका शर्मा की मांग पर कालका विधानसभा क्षेत्र के लिए पिंजौर में 100 करोड़ रूपए की लागत से फल एवं सब्जी मंडी, कालका के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र को अपग्रेड कर 50 बैड का अस्पताल बनवाने, पिंजौर में 20 बैड की सीएचसी, नानकपुर पीएचसी को अपग्रेड कर सीएचसी बनाने, इसरनगर से बक्शीवाला तक 8 करोड़ रूपए की लागत से पुल, पिंजौर मल्लाह सडक़ पर बेरघाटी में 6 करोड़ रुपए की लागत से पुल, कालका शहर के लिए 20 करोड़ रुपए अलग से देने की घोषणा की। इसके अलावा कालका विधानसभा क्षेत्र के ग्रामीण क्षेत्रों में 8 सडक़ों के लिए 21 करोड़ रुपए भी मुख्यमंत्री ने स्वीकृत किए।
मनोहर लाल ने प्रदेश के लोगों को महर्षि वाल्मीकि जयंती की भी बधाई एवं शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि सरकार की ओर से महर्षि वाल्मीकि जयंती पर जिला स्तर पर कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। मुख्यमंत्री ने नवनिर्मित खेल निदेशालय भवन का अवलोकन भी किया।
शहरी स्थानीय निकाय मंत्री श्रीमती कविता जैन ने अपने संबोधन में कहा कि मेरा यह सौभाग्य है कि शहरी स्थानीय निकाय मंत्री होने के नाते पंचकूला जिला की प्रभारी मंत्री भी हूँ।
उन्होंने कहा कि पिछले चार वर्षों में नये नगर निगमों के अंदर शामिल किये गये गांवों में विकास कार्य न करवाने के मिथक को तोड़ा है। पिछली सरकार के कार्यकाल में ऐसे गांवों में केवल दस करोड़ रुपये खर्च हुऐ थे और चार वर्षों में 218 करोड़ रुपये खर्च हुए हैं। उन्होंने कहा कि पंचकूला प्रदेश का ऐसा पहला शहर है जहां पर सीसीटीवी, एलईडी, वाईफाई जैसी परियोजनाओं की शुरूआत की गई है। उन्होंने कहा कि ‘सबका साथ-सबका विकास’ चार वर्ष पहले एक सपना सा लगता था परंतु मुख्यमंत्री ने हर विधानसभा क्षेत्र में विकास कार्य करवाकर इसे पूर्ण कर दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *