आतंकवाद निरोधक बल का गठन करेगी हरियाणा सरकार, मुख्यमंत्री ने किया ऐलान

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana
Gurugram, 08 Oct, 2018

हरियाणा प्रदेश में सुरक्षा व्यवस्था मजबूत करने के लिए एंटी टेरेरिस्ट फोर्स का गठन किया जाएगा, जिसे ‘कवच’ का नाम दिया जाएगा। कवच में 150 पुलिस कर्मी होंगे, जिनको मानेसर स्थित नेशनल सिक्योरिटी गार्डस (एनएसजी) द्वारा 14 सप्ताह की ट्रेनिंग दी जाएगी। इस बल के लिए 50-50 के बैच में हरियाणा पुलिस की विशेष भर्ती की जाएगी और  कवच के सदस्यों की हरियाणा पुलिस में भी ट्रांसफर की जा सकेगी। 
यह घोषणा आज हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने गुरुग्राम के लोक निर्माण विश्राम गृह में सूचना, जन संपर्क एवं भाषा विभाग हरियाणा द्वारा तैयार करवाई गई विकास गीत की सीडी के लांच के अवसर पर मीडिया प्रतिनिधियों से बातचीत कर रहे थे। एक सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा कि यह विकास गीत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मंगलवार को सांपला में होने वाले दीनबंधु सर छोटुराम प्रतिमा अनावरण समारोह में भी गूंजेगा। उन्होंने कहा कि इस विकास गीत में सरकार की लगभग 40 योजनाओं को गीत में पिरोकर सुंदर ढंग से प्रस्तुत किया गया है।
प्रदेश में सुरक्षा व्यवस्था चुस्त करने के बारे में बोलते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि देश में कुछ स्थानों पर आतंकवादी घटनाएं हो चुकी हैं और किसी को पहले आभास नही होता कि ये घटनाएं कहां  हो सकती हैं इसलिए ऐहतियात के तौर पर आतंकवादी घटनाओं पर काबू पाने के लिए हरियाणा में कवच नाम से एंटी टेरेरिस्ट फोर्स का गठन किया जाएगा, जोकि स्पेशल टे्रंड फोर्स होगी। इस फोर्स के लिए हरियाणा पुलिस की विशेष भर्ती की जाएगी और पूरी तरह से फिट व चुस्त युवाओं को इसमें 50-50 के बैच में भर्ती  किया जाएगा। इस विशेष फोर्स से सदस्यों की हरियाणा पुलिस में ट्रांसफर किया जा सकेगा और केवल फिट युवकों को ही इस विशेष बल में रखा जाएगा।
उन्होंने कहा कि कवच के सदस्यों को एनएसजी मानेसर द्वारा 14 सप्ताह की विशेष टे्रनिंग दी जाएगी, जिस संदर्भ में एनएसजी के अधिकारियों से बात हो चुकी है। उन्होंने बताया कि कवच का मुख्यालय गुरुग्राम में होगा और हरियाणा पुलिस का आईजी अथवा एडीजीपी रैंक का अधिकारी इसका हैड होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि वे प्रदेश में चाक चैबंद सुरक्षा व्यवस्था करना चाहते हैं। इसके लिए पुलिस को मजबूत करना जरूरी है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *