बजट पर तीन दिन चर्चा के बाद सीएम हुए खुश, बोले- विधायक मैं बनकर आए थे, हम बनकर निकले

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Umang Sheoran, Yuva Haryana

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा है कि बजट पूर्व विधायकों के साथ विचार विमर्श बैठक का आयोजन करने की हरियाणा ने एक नई पहल की है और आशा है कि अन्य राज्य इसका अनुसरण करेंगे। बैठक में आए अच्छे सुझावों को बजट के मानदण्डों के अनुरूप अधिक से अधिक शामिल करने का प्रयास किया जाएगा जो इस बजट 2020-21 में देखने को मिलेगा।

मुख्यमंत्री आज यहां सेक्टर 1 स्थित रैड बिशप में आयोजित विधायकों के साथ तीन दिवसीय पूर्व बजट परामर्श बैठक के समापन अवसर पर उपस्थित विधायकों को सम्बोधित कर रहे थे। इस अवसर पर उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला, विधानसभा अध्यक्ष ज्ञानचंद गुप्ता, उपाध्यक्ष रणबीर गंगवा, नेता प्रतिपक्ष भूपेन्द्र सिंह हुड्डा सहित मंत्री एवं विधायक उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्हें इस बात की प्रसन्नता है कि विधायकों ने पार्टी लाईन से उपर उठकर सुझाव दिए हैं। उन्होंने कहा कि यहां खुले मन से विचार विमर्श हुआ है। यहां पार्टी में मैं बनकर आए थे हम बन कर निकले हैं। सभी का संकल्प है कि हम समकक्ष बनकर प्रदेश की प्रगति करेंगे और जन आंकाक्षाओं पर खरा उतरेंगें।

मुख्यमंत्री ने विधायकों द्वारा राजस्व बढ़ाने के दिए गए सुझावों का भी स्वागत किया। उन्होंने कहा कि किसी भी प्रदेश का बजट राजस्व व खर्चे के आंकड़ों का लेखा जोखा होता है। उन्होंने 8 जनवरी से प्री बजट बैठकों की शुरूआत की गई थी, आज यह विधायकों के साथ अंतिम बैठक थी। इससे पूर्व विभिन्न क्षेत्रों के हितधारकों के साथ भी बैठके की गई और उनके सुझावों को भी प्रक्रिया में शामिल किया गया। उन्होंने कहा कि तीन दिवसीय इस बैठक के 6 सत्रों में जितने भी सुझाव आए उनमें से अधिकतम को  बजट में समावेश किया जाएगा और विभागों के बजट के सारांश संकलित कर आज से ही बजट बनाने की प्रक्रिया आरम्भ हो गई है। कल राज्यपाल श्री सत्यदेव नारायण आर्य के अभिभाषण के साथ प्रात: 11 बजे हरियाणा विधान सभा का बजट सत्र औपचारिक रूप से आरम्भ हो जाएगा। बजट सत्र की अवधि विधानसभा कार्यवाही समिति की बैठक में तय होगी।

सभी विधायकों ने बजट पूर्व बैठक में बोलने का अवसर देने के लिए मुख्यमंत्री का स्वागत किया।

इससे पूर्व, वित्त विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव टी.वी.एस.एन. प्रसाद ने कहा कि इस तीन दिवसीय सत्र के दौरान विधायकों द्वारा दिए गए सुझावों का रिकॉर्ड रखा जाएगा और वर्ष 2020-21 के लिए राज्य के बजट में अधिकतम सुझावों को शामिल करने का प्रयास किया जाएगा।

इस अवसर पर, विभिन्न विभागों के प्रशासनिक अधिकारी और पंचकूला जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *