सड़क हादसों को लेकर मुख्यमंत्री चितिंत, अधिकारियों को दिये सुधार के आदेश

Breaking अनहोनी चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Sahab Ram, Yuva Haryana
Chandigarh, 29 Dec, 2018

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने मौजूदा धुंध भरे मौसम की स्थिति के मद्देनजर राज्य में सड़क दुर्घटनाओं को कम करने के लिए बहुआयामी रणनीति अपनाने के निर्देश दिए है।

मुख्यमंत्री ने मूल्यवान मानव जीवन को बचाने के लिए सड़क दुर्घटनाओं की संख्या को कम करने के लिए पुलिस, परिवहन और लोक निर्माण विभाग सहित सभी एजेंसियों को एक साथ काम करने के लिए निर्देश दिए है।

सर्दी के मौसम में आते ही सड़क दुर्घटना के मामलों में दृश्यता की समस्या और घने कोहरे के कारण बढ़ोतरी देखी जाती है। इसे ध्यान में रखते हुए, पुलिस महानिदेशक श्री बी.एस. संधू ने सभी पुलिस आयुक्तों और जिलों के पुलिस अधीक्षकों को निर्देश जारी किए हैं कि वे आम जनता के हित में सुबह / शाम कोहरे के दौरान सुरक्षित सड़क यात्रा सुनिश्चित करें। उन्होंने लोगों से यह भी आग्रह किया कि वे अपनी सुरक्षा के लिए और दूसरों के लिए भी ऐसी कठिन परिस्थितियों में सावधानी से गाड़ी चलाएं।

दिए गए निर्देशों के अनुसार उचित दृश्यता की कमी के साथ-साथ इसके संभावित समाधानों के कारण दुर्घटनाओं का कारण बनते हैं। यह निर्देश दिया गया है कि क्रासिंग ब्लाइंड कर्व्स, ब्लैक स्पॉट्स और ट्रैफिक कंजेशन पॉइंट्स पर पर्याप्त ट्रैफिक ड्यूटी लगाकर ऐसे हादसों को रोकने के लिए सभी संभव निवारक उपाय किए जाएं और किसी भी वाहन को सड़कों पर खड़ा न होने दिया जाए।

वर्तमान धूमिल मौसम के दौरान चौबीस घंटे सड़क यातायात को सुचारू रूप से चलाने के लिए प्रत्येक जिले में डीएसपी / एसीपी के स्तर के एक अधिकारी को नोडल अधिकारी के रूप में नामित करने के भी निर्देश दिये गए है। यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि राष्ट्रीय और राज्य राजमार्गों और अन्य सड़कों पर यात्रियों को दुर्घटनाओं, टूटे वाहनों, सड़क पर पार्किंग, गलत साइड ड्राइविंग के कारण यातायात जाम का सामना न करना पड़े। इसके अलावा, हाईवे पर अवरोधक लगाते समय, ट्रैफिक बैरिकेड्स का उपयोग लैशिंग लाइटों के साथ किया जाना चाहिए / स्थापित किया जाना चाहिए।

एनएचएआई, पीडब्ल्यूडी बीएंडआर, यूएलबी जैसे अधिकारियों के साथ समन्वय करने के लिए भी कहा गया है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि टूटी हुई बैरिकेडिंग को मानक रोड साइड बैरियर और डायवर्जन विधियों से बदला जाएगा। सभी यात्रियों को अपने वाहनों पर रेट्रो रिफलेक्टिव टेप लगाने की सलाह दी जानी चाहिए। नशे में वाहन चलाने और ओवर स्पीडिंग करने वाले वाहनों की जाँच अधिक प्रभावी होगी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *