प्रधानमंत्री को ई-मेल भेजकर कॉलेज छात्राओं ने मांगी इच्छामृत्यू की इजाजत

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Pradeep Dhankhar, Yuva Haryana

jhajjar, 29 August 2019 

 

झज्जर -सांपला मार्ग पर गांव गुरावड़ा के पास स्थित एक मैडिकल कॉलेज की छात्राओं ने प्रबन्धन की कार्यशैली से नाराज होकर इच्छामृत्यू की इजाजत मांगी है। बुधवार को कॉलेज में मैडिकल की पढ़ाई करने वाले इन छात्रों ने राष्ट्रपति,सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस,पीएम व सीएम को मेल भेजकर कॉलेज प्रबन्धन की कार्यशैली पर सवाल उठाए है। भेजी गई मेल में छात्रों ने स्पष्ट शब्दों में दो टूक कहा है कि वह अपने दाखिले के बाद से ही कॉलेज प्रबन्धन की कार्यशैली से काफी परेशान है।

दाखिले के समय कॉलेज प्रबन्धन ने जो वायदे छात्रों से किए थे। उनमें से एक वायदे को भी कॉलेज प्रबन्धन ने पूरा नहीं किया है। न तो मैडिकल कॉलेज में कोई चिकित्सक है और न ही कोई मरीज। इसके अलावा कॉलेज प्रबन्धन की कार्यशैली कॉलेज की स्थापना के बाद से ही सवालों के घेरे में है। कई बार कॉलेज प्रबन्धन की मानसिक प्रताडऩा का वह शिकार हो चुके है। कॉलेज प्रबन्धन पूरी फीस लेने के बावजूद भी उन्हें कई बार कॉलेज से बाहर का रास्ता दिखाने की धमकी दे चुका है। मंगलवार को भी कॉलेज प्रबन्धन ने उन्हें कॉलेज गेट के बाहर चिलचिलाती धूप में खड़े रखा।

बाद में पुलिस के हस्तक्षेप के बाद ही उन्हें कॉलेज में प्रवेश करने दिया गया। बता दें कि गांव गुरावड़ा के पास स्थित उक्त मैडिकल कॉलेज अपनी स्थापना के बाद से ही विवादों के घेरे में रहा है। कॉलेज प्रबन्धन की कार्यशैली से नाराज छात्रों ने जब मंगलवार को अपनी बात रखने के लिए सीएम मनोहर लाल खट्टर से मिलकर ज्ञापन सौंपने का फैसला किया तो कॉलेज प्रबन्धन ने सभी छात्रों को कॉलेज के बाहर ढाई घंटे तक खड़े रखा। अब कॉलेज के इन आंदोलनरत छात्रों ने कॉलेज प्रबन्धन के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए उनकी परेशानियां दूर न होने पर इच्छा मृत्यू की इजाजत मांगी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *