डेरा प्रमुख राम रहीम को धमकाने की शिकायत गलत, जांच में सभी आरोप निकले तथ्यहीन

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Shweta Kushwaha, Yuva Haryana

Chandigarh, 16 April, 2019

साध्वी यौन शोषण मामले में रोहतक की सुनारिया जेल में सजा काट रहे डेरा प्रमुख राम रहीम को धमकाने के मामले में जेल अधीक्षक पर लगे आरोपों की जांच पूरी हो गई है। जांच में सामने आया है कि यह सभी आरोप तथ्यहीन हैं। अधिकारियों ने फिलहाल जांच रिपोर्ट उपायुक्त को सौंप दी है। अब यह रिपोर्ट निर्वाचन विभाग को भेजी जाएगी।

आशंका है कि डेरा प्रेमियों ने ही अज्ञात शिकायत पत्र भेजकर जेल अधीक्षक पर इस तरह के गलत आरोप लगाए हैं।

दरअसल, राज्य निर्वाचन को एक शिकायत भेजी गई थी, जिसमें सुनारिया जेल के अधीक्षक सुनील सांगवान पर आचार संहिता के उल्लंघन के आरोप लगाए गए थे। उसमें लिखा गया था कि जेल अधीक्षक ने जेल में राम रहीम को कांग्रेस के समर्थन में वोट देने के लिए धमकाया है। कारण बताया जा रहा है कि जेल अधीक्षक कांग्रेस नेता व पूर्व मंत्री के बेटे हैं।

इसके बाद मामले पर संज्ञान लेते हुए जांच एसडीएम सांपला और डीएसपी ताहिर हुसैन को सौंपी गई, जिन्होंने जेल पहुंचकर बयान दर्ज किए। जिसके बाद रिपोर्ट तैयार करके उपायुक्त को सौंप दी गई। सूत्रों की माने तो जांच में इस तरह का कोई भी तथ्य सामने नहीं आया है, जो शिकायत में दिए गए थे।

क्योंकि जेल अधीक्षक खुद भी सरकार की अनुमति के बिना राम रहीम से नहीं मिल सकते। जिसे देखकर सामने आया है कि उसे धमकाने के आरोप गलत हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *