कंप्यूटर टीचर्स और लैब सहायक सरकार से नाराज, 28 मई को होगी आर-पार की लड़ाई

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Sahab Ram, Yuva Haryana
Chandigarh, 24 May, 2018

पिछले 5 वर्ष से भी ज्यादा समय से रोजी रोटी की जंग लड़ रहे कंप्यूटर टीचर्स और लैब सहायकों ने एक बार फिर से बड़े आंदोलन का एलान कर दिया है। मुख्यमंत्री की घोषणा को 5 महीने से भी ज्यादा समय बीत जाने के बाद भी आदेश जारी ना होने से खफा हजारों कर्मचारियों ने 28 मई से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने का फैसला कर लिया है।

बीते दिनों 9 मई के उग्र प्रदर्शन के बाद मुख्यमंत्री के ओएसडी ने कर्मचारियों से समस्या समाधान के लिए 22 मई तक समय मांगा था मगर मात्र आश्वाशन के अभी तक कुछ हाथ नहीं लगा। ना तो मुख्यमंत्री के कहे अनुसार वेतन वृद्धि के आदेश जारी हुए और ना ही अनुबंध को बढ़ाया गया।

ऐसे में हजारों कर्मचारी एक बार फिर से जून की तपतपाती गर्मी में नौकरी को बचाने के लिए सड़क पर होंगे। लेकिन शिक्षा विभाग की कार्यप्रणाली पर बड़े सवाल उठ रहे आखिर मुख्यमंत्री की घोषणा लागू क्यों नहीं हो रही, जिसे लेकर आज प्रदेश का युवा गुस्से में है।

पीआरटी के बराबर वेतन बढ़ाने की थी घोषणा :-

गौरतलब है 20 दिसम्बर 2017 को मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में विभागे के आला अधिमारियों की मौजूदगी में प्रदेश के मुखिया ने कंप्यूटर टीचर्स को पहली जनवरी से वेतन बढाकर पीआरटी टीचर्स के बराबर 21715 रु और लैब सहायक को स्किल्ड स्केल 11429 रु प्रति माह देने की ना केवल घोषणा की बल्कि तात्कालिक वित्तायुक्त के के खंडेलवाल को इस पर काम करने के आदेश भी जारी किये थे। लेकिन इतना समय बीत जाने के बाद भी ना तो वेतन बढ़ा और ना ही कर्मचारियों की नौकरी के लिए कोई नीति बनाई गई।

कंप्यूटर शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष बलराम धीमान ने बताया मुख्यमंत्री की घोषणा के बाद 30 से ज्यादा बैठकें सरकार और शिक्षा विभाग के अधिकारियों के साथ कर चुके है लेकिन हर बार सिवाय आश्वासन के कुछ हासिल नहीं हुआ। इनसे पहले भी सरकार की तरफ से 22 तक का समय माँगा गया था और 23 से हड़ताल शुरू होनी थी लेकिन फिर से सरकार ने 23 मई को बुलाकर मात्र एक आश्वासन दिया जिससे हजारों कर्मचारियों में इतना गुस्सा है कि आने वाले समय में कंप्यूटर टीचर्स और लैब सहायक मिलकर आजतक का सबसे बड़ा आंदोलन करने जा रहे है, इसमें किसी भी तरह की परिस्थिति के लिए सरकार जिम्मेदार होगी।

गर्मी की छुटियों के साथ हो जायेगी सेवा समाप्ति:-

कंप्यूटर लैब सहायक संघ के प्रदेश अध्यक्ष सुरेंद्र प्योंत ने बताया सरकार 2015 से ही कंप्यूटर टीचर्स और लैब सहायकों को सेवा कर नाम पर मात्र 3 से 6 महीने के अनुबंध पर नौकरी दे रही। उन्होंने बताया एक बार फिर से आगामी गर्मी की छुटियों के साथ प्रदेश के 5000 कर्मचारी सड़क पर आ जायेंगे। लेकिन अबकी बार आंदोलन आरपार का किया जायेगा जिसमे किसी भी तरह की परिस्थिति के लिए शिक्षा विभाग और सरकार जिम्मेदार होगी।

 

Read This News Also>>>

विरेंद्र मराठा की एकता शक्ति पार्टी का कांग्रेस में विलय, बदलेंगे उत्तरी हरियाणा के राजनीतिक समीकरण 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *