सरसों की खरीद को लेकर हुड्डा ने भाजपा पर साधा निशाना

खेत-खलिहान बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा

विपक्षी दलों को भाजपा सरकार के खिलाफ आक्रोश जताने का मौका मिल गया है।

पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने भाजपा सरकार पर सरसों की खरीद न्यूनतम समर्थन मूल्य पर नहीं करने का आरोप लगाया है।

सरसों का न्यूनतम समर्थन मूल्य चार हजार रुपये क्विंटल तय है, जबकि किसानों से 3200 से 3400 रुपये क्विंटल में ही खरीदा जा रहा है। पानीपत मंडी में सरसों केवल 2900 रुपये क्विंटल पर बिकी है।

हुड्डा का कहना है कि भाजपा सरकार किसानों के हित साधने में पूरी तरह से नाकामियाब साबित हुई है। सरकार का अधिकारियों पर कोई नियंत्रण नहीं है।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने विधानसभा में इस बात का आश्वासन दिया था कि सरसों की पूरी फसल को न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीदा जाएगा।
लेकिन इस बात को कोई अहमियत नहीं दी जा रही है।

ङुड्डा ने भाजपा पर आरोप लगाते हुए कहा कि MSP के दायरे में आने वाली फसलों का एक-एक दाना खरीदने के दावे किए जा रहे हैं। मगर सरसों, बाजरा, सूरजमुखी, मक्की और मूंग की दस फीसद फसल भी MSP पर नहीं खरीदी जाती।

इन सबको देखकर लगता है कि सरकार किसानों के साथ धोखा कर रही है। एक तरफ सरकार किसानों की आय दोगुनी करने की बात कहती है और दूसरी तरफ न्यूनतम समर्थन मूल्य भी नहीं दिया जाता।

पूर्व सीएम हुड्डा ने मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय के एक निर्णय का हवाला करते हुए कहा कि हरियाणा में भी इस तरह की व्यवस्था की जानी चाहिए कि मंडियों में फसल किसी भी सूरत में MSP से कम पर नहीं बिके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *