कुली ने सिविल सेवा परीक्षा की पास, फ्री वाई-फाई से की थी पढाई

Breaking चर्चा में देश बड़ी ख़बरें शख्सियत

Sahab Ram, Yuva Haryana
Chandigarh, 10 May, 2018

सोशल मीडिया और इंटरनेट का जमाना है, इस जमाने में कोई इंटरनेट का सही इस्तेमाल कर अपनी जिंदगी सुधार रहा है तो कोई गलत कामों में लगकर अपनी जिंदगी बिगाड़ रहा है लेकिन आपको एक ऐसे कुली से रुबरु करवाते हैं जिसने फ्री इंटरनेट की बदौलत सिविल सेवा की परीक्षा पास की है। यह कुली श्रीनाथ है जो केरल का रहने वाला है।

 

कुली श्रीनाथ ने रेलवे स्टेशन पर साथ में कुली का काम किया और साथ में ही अपनी सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी भी की। श्रीनाथ ने बताया स्टेशन पर फ्री वाई-फाई के जरिये वो अपने फोन में ही सारे दिन सिलेब्स से संबंधित ऑनलाइन लैक्चरर सुनते थे। इस दौरान वो सिर पर सामान उठाए रखते और कानों में इयरफोन्स लगाकर वो अपने विषय से संबंधित लैक्चर को सुनते रहते थे।

श्रीनाथ ने बताया कि उन्होने अलग से किसी भी विषय की कोई कोचिंग नहीं ली, ना ही किसी स्पेशल जगह पर जाकर कोई किताबी ज्ञान लिया । अब श्रीनाथ ने केरल सिविल सेवा परीक्षा पास कर ली है, अब अगर वो इंटरव्यू में पास हो जाते हैं तो उन्हे भू-राजस्व विभाग में ग्राम सहायक का पद मिल सकता है।

फ्री वाई-फाई से की तैयारी, कर दी परीक्षा पास

केरल के मुन्नार के रहने वाले श्रीनाथ के. एक रेलवे स्टेशन पर कुली का काम करते हैं. वो पिछले पांच सालों से अर्णाकुलम रेलवे स्टेशन पर कुली का काम करते हैं।

गरीब घर से ताल्लुक रखने वाले श्रीनाथ ने अपने सपनों की उड़ान भरने की सोची, रेलवे स्टेशन पर ही उन्होने फ्री के वाई-फाई के जरिये अपनी किस्मत बदलने की ठानी ।

उन्होने लगातार इस फ्री के वाई-फाई से अपने लैक्चर सुने और सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी की।

 

डिजीटल इंडिया को बढ़ावा देता होनहार

अक्सर सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी करने वाले प्रतिभागी किताबों से पढाई करते हैं. उनके पास ढेरों किताबें मिलती है, लेकिन श्रीनाथ ने डिजीटल इंडिया को बढ़ावा देते हुए फ्री की वाई-फाई से तैयारी की। श्रीनाथ ने इस परीक्षा के लिए कोई किताब नहीं खरीदी।

हौंसले की उड़ान, अब पाया है असली मुकाम

श्रीनाथ बताते हैं कि वो सिविल सेवा की परीक्षा तीन बार दे चुके हैं. तीसरी बार में उन्होने परीक्षा पास कर दी । इससे पहले उनके पास इतना स्टडी मैटिरियल भी नहीं था, लेकिन जब से वाई-फाई लगा है उसके बाद उन्हे स्टडी का मैटिरियल नेट से मिल रहा था और वो इसी से तैयारी कर रहे थे।

 

Read This News Also>>>>

अनु कुमारी को बेटी-बचाओ, बेटी पढाओ अभियान सोनीपत का बनाया जाएगा ब्रांड अंबेसडर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *