मनीष ग्रोवर की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, जानिए वजह

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana, Chandigarh

महम से निर्दलीय विधायक बलराज कुंडू की शिकायत पर गृह मंत्री अनिल विज ने बड़ा कदम उठाते हुए स्थानीय निकाय विभाग की एक SIT गठित करने के आदेश दिए हैं। यह कमेटी पूर्व मंत्री मनीष ग्रोवर पर लगे आरोपों की जांच करेगी व एक महीने में रिपोर्ट गृहमंत्री को सौंपेगी।

बता दें कि गृहमंत्री ने 3 सदस्यीय एसआईटी में अर्बन लोकल बॉडी डिपार्टमेंट के डायरेक्टर, एक चीफ इंजीनियर और एक रिटायर्ड अधिकारी शामिल किए हैं,

आपको बता दें कि महम से निर्दलीय विधायक बलराज कुंडू ने पिछले 5 साल के लोकल बॉडी डिपार्टमेंट के भ्रष्टाचार के कई मामलों की शिकायत अनिल विज को की थी, जिस पर अनिल विज ने एसआईटी का गठन किया है। वहीं अब विधायक बलराज कुंडू ने गृहमंत्री अनिल विज से मुलाकात कर पिछले दिनों हरियाणा के पूर्व सहकारिता राज्यमंत्री मनीष ग्रोवर के खिलाफ कई घोटालों के दस्तावेज सौंपे।

विधायक बलराज कुंडू ने पूर्व मंत्री मनीष ग्रोवर के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए गृह मंत्री अनिल विज को शिकायत सौंपी है। उन्होंने आरोप लगाया है कि अब तक उन्हें जो साक्ष्य मिले हैं उसमें तत्कालीन मंत्री ने तीन गुना पैसों पर एसटीपी प्लांट लगाकर घोटाला किया है।

कुंडू ने आरोप लगाया कि करनाल की जिस एजेंसी ने एक जिले में 27 करोड़ रुपये का एसटीपी प्लांट लगाया था। उसी कंपनी का रोहतक और सोनीपत में एसटीपी प्लांट लगाने के लिए 72 करोड़ रुपये का टेंडर किया गया।

विधायक बलराज कुंडू ने पूर्व मंत्री मनीष ग्रोवर के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए गृह मंत्री अनिल विज को शिकायत सौंपी है। कुंडू ने इस बार विज को साक्ष्य भी सौंपे हैं। उन्होंने आरोप लगाया है कि अब तक उन्हें जो साक्ष्य मिले हैं उसमें तत्कालीन मंत्री ने तीन गुना पैसों पर एसटीपी प्लांट लगाकर घोटाला किया है।

कुंडू ने आरोप लगाया कि करनाल की जिस एजेंसी ने एक जिले में 27 करोड़ रुपये का एसटीपी प्लांट लगाया था। उसी कंपनी का रोहतक और सोनीपत में एसटीपी प्लांट लगाने के लिए 72 करोड़ रुपये का टेंडर किया गया।

कुंडू ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री मनोहरलाल और निकाय मंत्री अनिल विज भ्रष्टाचार के खिलाफ अभियान को गति दे रहे हैं। मंत्री से उम्मीद है कि पूर्व सरकार में जिन नेताओं और अफसरों ने मिलीभगत कर घोटाला किया है उसे जांच करवाकर सजा दिलाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *